(Akshansh) अक्षांश का अर्थ Meaning in Hindi

अक्षांश शब्द का सबंध पृथ्वी के नमूने (ग्लोब) पर खिंची गई काल्पनिक रेखांश/अक्षांश रेखाओं से है जो भूमध्य रेखा के समान्तर होती है तथा इन्ही रेखाओं के आधार भूमध्य रेखा से किसी भी स्थान की कोणीय दूरी (दक्षिण या उत्तर की ओर) अक्षांश कहलाती है भूमध्य रेखा एक काल्पनिक रेखा है जो पृथ्वी को दो बराबर भागों में विभाजित करती है जिसका एक भाग उत्तरी गोलार्ध तथा दूसरा भाग दक्षिणी गोलार्ध कहलाता है

रेखांश रेखा (ग्लोब में ध्रुव से ध्रुव को मिलाने वाली काल्पनिक रेखाएं) तथा अक्षांश रेखा (ग्लोब में भूमध्य रेखा के समांतर खिंची गई काल्पनिक रेखाएं) उत्तरी तथा दक्षिणी गोलार्ध की तरफ वृत्त बनाती हुई बढ़ती हैं ये वृत्त किसी भी एक गोलार्ध की ओर बढ़ते हुए छोटे होते जाते हैं तथा अंतत: ध्रुवों पर जाकर एक बिंदु का रूप धारण कर लेते हैं इस प्रकार भूमध्य रेखा से ध्रुव के मध्य 90 डिग्री का एक कोण बनता है तथा पृथ्वी का प्रत्येक स्थान किसी ना किसी वृत्त में आता है जो उस स्थान की भौगोलिक स्थिति को आसानी से समझने में सहायता करता है अक्षांश का एक अन्य अर्थ विस्तार भी होता है; एक एसा विस्तार जो चौड़ाई की और अग्रसर हो रहा होता है अक्षांश कहलाता है अक्षांश को अंग्रेजी में लेटीट्यूड (Latitude) (एल.ए.टी.आई.टी.यू.डी.ई.) कहा जाता है

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...