(Mazhab) मज़हब का अर्थ Meaning in Hindi

अलौकिक शक्तियों में विश्वास के आधार पर बने बहुत से समुदायों में से किसी भी एक को मज़हब कहा जाता है। प्रत्येक मज़हब के पूज्य, पूजा करने का तेरीके, परम्परा इत्यादि में असमानता पाई जाती है। परन्तु सभी मजहबों का लक्ष्य सकारात्मक ऊर्जा का प्रचार व नकारात्मक ऊर्जा को नष्ट करना ही होता है। यद्दपि कभी-कभी विश्वास या विचार में टकराव के चलते कुछ सांप्रदायिक गतिविधियाँ देखने को मिलती रहती हैं जो कि स्वाभाविक हैं। सरल शब्दों में कहा जाए तो मज़हब उस अलौकिक शक्ति की ओर ले जाने वाला रास्ता है जिस शक्ति को ब्रह्माण्ड के सृजन का कारण माना जाता है या जिस शक्ति के कारण हमारा अस्तित्व है।

प्रत्येक मज़हब अपना एक अलग चिन्ह रखता है जो मज़हब के संस्थापक से प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से जुड़ा होता है। इसी प्रकार प्रत्येक मज़हब की अपनी अलग पवित्र लिखित रचना होती है इस रचना को ईश्वर की वाणी माना जाता है। रचना में लिखित जानकारी व आदेशों के आधार पर ही मज़हब की परम्पराएं निभाई जाती हैं। कुछ बुद्दिजीवियों के अनुसार मज़हब का अंधविश्वास से गहरा नाता रहा है क्योंकि मज़हब में आस्था व विश्वास के चलते तर्क-वितर्क के लिए कोई जगह नही रहती। मज़हब का अर्थ व प्रयायवाची हैं: धर्म, पंथ, सम्प्रदाय, पथ, रास्ता, परलौकिक शक्ति में आस्था (अंग्रेजी: रिलिजन)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...