(Rasna) रसना का अर्थ Meaning in Hindi

जिव्हा जो स्वाद को पहचानने का कार्य करती है को रसना नाम से भी संबोधित किया जाता है। रसना का विस्तार अर्थ होता है रस में डूबा हुआ। इसके अतिरिक्त वह क्रिया जिसमें द्रव थोड़ी-थोड़ी मात्रा में टपकता रहता है उस क्रिया को रसना कहा जाता है जैसे: घड़े के सूक्ष्म छिद्रों से जल का रिसना या छत पे एकत्रित हुए पानी का धीरे-धीरे टपकते हुए नीचे गिरना आदि की क्रियाएं रसना को दर्शाती हैं। इस प्रकार रिसाव को रसना/ रिसना का पर्याय माना जा सकता है। रस के स्वाद का आभास करने की क्रिया को भी रसना शब्द से जोड़ा जा सकता है परन्तु मूल रूप से यह शब्द जीभ के पर्याय के रूप में ही जाना जाता है।

इस शब्द से जुड़े बहुत से मुहावरे भी प्रचलन में हैं जैसे कि: रसना तालू से लगाना अर्थात जीभ को तालू से लगाने की क्रिया। इस मुहावरे का अर्थ होता है मौन रहना या बोलना बंद करना। इसी के उलट रसना खोलना अर्थात जिव्हा खोलना जिसका शाब्दिक अर्थ होता है बोलना शुरू करना। रसना का अर्थ व प्रयायवाची हैं: जिव्हा/ रसमग्न/ फैलना/ समाना/ पारगमन/ रसस्वाद/ जुबान (अंग्रेजी: परमिएशन) इत्यादि।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...