(Chak De Phatte) चक दे फट्टे का अर्थ Meaning in Hindi

चक दे फट्टे पंजाबियों द्वारा आमतौर पर बोला जाने वाला शब्द/ वाक्य है जिसका इतिहास से सबंध होने के साथ साथ वर्तमान रुपी अर्थ भी हैं चक दे फट्टे दो शब्दों से मिल कर बना वाक्यांश है “चक दे” का अर्थ होता है “उठा दे” अर्थात किसी वस्तु इत्यादि को शारीरिक या अन्य बल द्वारा स्थानांतरित करना या उठाना; उठा दे या चक दे शब्द किसी को आज्ञा देने का बोध करवाता है तथा द्वितीय शब्द “फट्टे” एक प्रकार का लकड़ी से बना आकार जिसकी लम्बाई तथा चौड़ाई के अनुपात में मोटाई बहुत कम होती है इसे पेड़ की कटी लकड़ी को चीर कर यह रूप दिया जाता है अब इस शब्द से इतिहास को जोड़ते हैं

(Kalol) कलोल का अर्थ Meaning in Hindi

कलोल एक पंजाबी भाषा का शब्द है तथा बहुकथित तौर पर प्रयोग किया जाता है कलोल का अर्थ होता है मजाक करना या मजाक बनाना, किसी की हंसी उड़ाना, निरर्थक/ अर्थहीन काम करना जिनका कोई महत्व ना हो, व्यर्थ की क्रियाओं में समय खराब करना यह शब्द पंजाबी भाषी क्षेत्रों में आम तौर पर प्रयोग किया जाता है

(Fitoor) फितूर का अर्थ Meaning in Hindi

फितूर एक अरबी भाषा से सबंधित शब्द है जिसका सीधे सीधे अर्थ पागलपनहोता है उदाहरण के तौर पर यदि वाक्य इस प्रकार है मेरे दिमाग का फितूर...तो इसका अर्थ होगा (मेरे दीमाग का पागलपन) अब इस पागलपन शब्द के मूल अर्थ को समझिए जब किसी वस्तु, व्यक्ति की चाहत के लिए दिमाग सब कुछ समझना बंद कर दे तब इसे पागलपन कहते हैं (यहाँ ध्यान देने योग्य बात है कि इस पागलपन का अर्थ दिमागी विकार/रोग से नही है) इसका अर्थ दीवानगीभी हो सकता है किसी के लिए बे-हद दीवाना हो जाना फितूरका पर्याय है

फितूर शब्द के अनेकों अर्थ हो सकते हैं जिनमें से एक अन्य अर्थ है जूनूनअर्थात किसी के लिए दीवानगी की हद तक उतावला होना एक प्रकार से अपने जीवन का परम लक्ष्य उस व्यक्ति/वस्तु को पा लेना ही हो जाए जूनून कहलाता है उपरोक्त फितूर शब्द सबसे अधिक हिन्दी चित्रपट फितूरके प्रदर्शित होने के बाद जाना जाने लगा उससे पूर्व हिन्दी भाषा में इस शब्द का इतना महत्व नही था फितूर (पागलपन) को अंग्रेजी में मैडनेस कहा जाता है

Fitoor Ek Arbi Bhasha Se Sabandhit Shabd Hai. Jiska Sidhe Sidhe Arth Pagalpan Hota Hai. Udaharan Ke Taur Par Yadi Vakya Iss Prakar Hai: “Mere Dimag Ka Fitoor…” Toh Iska Arth Hoga (Mere Dimag Ka Pagalpan). Ab Iss Pagalpan Shabd Ke Mool Arth Ko Samajhiye: Jab Kisi Vyakti Vastu Ki Chahat Ke Liye Dimag Sab Kuchh Samjhna Band Kar De Tab Isse Pagalpan Kahte Hain (Yahan Dhayan Dene Yogya Baat Hai KI Iss Pagalpan Ka Arth Dimagi VIkaar/Rog Se Nahi Hai) Iska Arth Divanagi Bhi Ho Sakta Hai. Kisi Ke Liye Be-Hadd Diwana Ho Jana “Fitoor” Shabd Ka Prayay Hai.

Fitoor Shabd Ke Anekon Arth Ho Skate Hain. Jinmein Se Ek Anya Arth Hai: “Junoon” Arthat Kisi Ke Liye Diwanagi Ki Hadd Tak Utavla Hona. EK Prakar Se Apne Jivan Ka Param Lakshya Uss Vyakti/Vastu Ko Paa Lena Hi Ho Jaaye Junoon Kahlata Hai. Uprokt Fitoor Shabd Sabse Adhik Hindi Chitrapat “Fitoor” Ke Pradarshit Hone Ke Baad Se Jana Jane Laga. Iss Se Purv Hindi Bhasha Me Iss Shabd Ka Itna Mahtva Nahi Tha. Fitoor (Pagalpan) Ko Angreji Me (Madness) Kaha Jata Hai.

(Aata Majhi Satakli) आता माझी सटकली का अर्थ Meaning in Hindi

आता माझी सटकली तीन शब्दों से मिल कर बना एक प्रसिद्ध मराठी वाक्य है हिन्दी चित्रपट सिंघममें मुख्य रूप से दोहराए जाने के कारण हिन्दी भाषी क्षेत्रों में भी फ़ैल चुका है आता माझी सटकली का अर्थ होता है मेरा दिमाग खराब हो रहा है...या मैं आपे से बाहर हो रहा हूँ...इस वाक्य में प्रयोग माझी शब्द मस्तिष्कके लिए प्रयोग किया गया है जिसका हिन्दी पर्याय दिमाग होता है इसके पश्चात आने वाला सटकली शब्द सटकनासे सबंधित है जिसका अर्थ होता है: अपने स्थान पर ना रहना या सामान्य अवस्था खो देना।

आता माझी सटकली एक चेतावनी रुपी शब्द है जो किसी व्यक्ति के दुर्व्यवहार से तंग आकर बोला जाता है जिसके अर्थस्वरूप व्यक्ति आपे से बाहर है तथा बिना सोचे विचारे कोई भी हानि कर सकता है सिंघमफिल्म के प्रथम भाग में यह एक संवाद की तरह प्रयोग किया गया था परन्तु यह इतना लोकप्रिय हुआ कि द्वितीय भाग में इस शब्द पर गाना आता माझी सटकलीरचा गया जिसे आत्याधिक पसंद किया गया।

Aata Majhi Satakli Jo Ki Teen Shabdon Se Mil Kar Bana Ek Prasidh Marathi Vakya Hai. Tatha Hindi Chitrapat “Singham” Me Mukhya Roop Se Dohraaye Jane Ke Karan Hindi Bhashi Kshetron Me Bhi Fail Chuka Hai. Aata Majhi Satakli Ka Arth Hota Hai: “Mera Dimag Kharab Ho Raha Hai…” Ya “Main Aape Se Bahar Ho Raha Hu…” Iss Vakya Me Prayog Majhi Shabd “Mastishk” Ke Liye Prayog Kiya Gaya Hai Jiska Hindi Prayay “Dimag” Hota Hai. Iske Pashchat Aane Wala Satakli Shabd “Satakna” Se Sambandhit Hai. Jiska Arth Hota Hai: Apne Sthan Par Na Rahna Ya Samanya Avstha Kho Dena.

Aata Majhi Satakli Ek Chetavni Roopi Shabd Hai Jo Kisi Vyakti Ke Durvyavhar Se Tang Aakar Bola Jata Hai. Jiske Arthsvaroop Vyakti Aape Se Bahar Hai Tatha Bina Soche Vichare Koi Bhi Hani Kar Sakta Hai. “Singham” Film Ke Pratham Bhag Me Yah Ek Sanvad Ke Roop Me Prayog Kiya Gaya Tha. Parantu Yah Shabd Itna Lokpriya Hua Ki Dvitiya Bhag Me Iss Shabd Par Gana “Aata Majhi Satakli” Racha Gaya Jise Atyadhik Pasand Kiya Gya.

(Qaza / Kazaa) कज़ा का अर्थ Meaning in Hindi

कज़ा एक इस्लामिक शब्द है तथा अल्लाह को अदा की जाने वाली नमाज़ से सबंधित है इस शब्द को इस प्रकार समझने का प्रयास कीजिए: जब नमाज़ पढ़ी जाती है तब इस्लाम में इसे नमाज़ अदा करनाकहा जाता है परन्तु यदि किसी कारण वश नमाज़ अदा ना की जा सकती हो तब इसे कज़ाकहा जाता है

यदि हिन्दी भाषा में कज़ा के लिए अर्थ देखा जाए तो इस शब्द का अर्थ होता है: मृत्यु... यह शब्द इस अर्थ के साथ प्रयोग किया जा सकता है जैसे: या खुदा मुझे कज़ा दे दे... मेरी ज़िन्दगी को पर्दा दे दे...अर्थात मृत्यु प्राप्ति हेतु ईश्वर के समक्ष सिर झुकाना...

Qaza Ek Islamik Shabd Hai Tatha Allah Ko Ada Ki Jane Wali Namaz Se Sambandhit Hai. Iss Shabd Ko Iss Prakar Samjhne Ka Prayas Kijiye: Jab Namaz Padhi Jati Hai Tab Islam Me Ise “Namaz Ada Karna” Kaha Jata Hai Parantu Yadi Kisi Karan Vash Namaz Ada Na Ki Ja Sakti Ho Tab Ise “Qaza/ Kaza” Kaha Jata Hai.

Yadi Hindi Bhasha Me Qaza Ke Liye Arth Dekha Jaye Toh Iss Shabd Ka Arth Hota Hai: Mrityu; Yah Shabd Iss Arth Ke Sath Prayog Kiya Ja Sakta Hai Jaise: “Ya Khuda Mujhe Qaza De De… Meri Zindagi Ko Parda De De…” Arthat “Mrityu Prapti Hetu Ishwar Ke Samaksh Sir Jhukana…”

(Tetua) टेटुआ का अर्थ Meaning in Hindi

टेटुआ शब्द उत्तरी भारत के खड़ी बोली इलाकों के साथ साथ अन्य हिन्दी भाषी क्षेत्रों में प्रचलित है वर्तमान में इस प्रकार के शब्दों को हिन्दी फिल्मों में प्रयोग किया जाने लगा है टेटुआ शब्द का अर्थ होता है गला/ गर्दन”; इसके अतिरिक्त गले के आकार की किसी सुराहीदार नाली को टेटुआ कहा जाता है इस शब्द को हिन्दी फिल्म “गंगाजल” के गाने टेटुआके कारण प्रसिधी मिली है टेटुआ शब्द से सबंधित कुछ उदाहरण नीचे दिए गए हैं।

जैसे कि टेटुआ दबाना...जिसका अर्थ होता है गला दबानाहालाँकि शुद्ध हिन्दी भाषी क्षेत्रों में यह शब्द बहुत कम प्रयोग में लाया जाता है टेटुआ को अंग्रेजी में नैक कहा जाता है।

Tetua Shabd Uttari Bharat Ke Khadi Boli Ilakon Ke Sath Sath Anya Hindi Bhashi Kshetron Me Prachlit Hai. Vartman Me Iss Prakar Ke Shabdon Ko Hindi Filmon Me Prayog Kiya Jane Laga Hai. Tetua Shabd Ka Arth Hota Hai: Gala/ Gardan; Iske Atirikt Gale Ke Aakar Ki Kisi Surahidar Naali Ko Tetua Kaha Jata Hai. Iss Shabd Ko Hindi Film “Gangajal” Ke Gaane “Tetua” Ke Karan Prisidhi Mili Hai. Tetua Shabd Se Sambandhit Kuchh Udaharan Niche Diye Gaye Hain.

Jaise Ki “Tetua Dabana…” Jiska Arth Hota Hai “Gala Dabana” Yaddpi Shudh Hindi Bhashi Kshetron Me Yah Shabd Bahut Kam Prayog Me Laya Jata Hai. Tetua Ko Angreji Me (Neck) Kaha Jata Hai.

(Bekhudi) बेख़ुदी का अर्थ Meaning in Hindi

बेख़ुदी शब्द हिन्दी गानों तथा शायरी में प्रमुखता से प्रयोग किए जाने वाले शब्दों में से एक है इसका अर्थ होता है बेसुध (कोई एसी स्थिति विशेषकर मस्तिष्क की जिसमें व्यक्ति सोचने विचारने में सक्षम ना हो) जैसे कि एक प्रकार के नशे की हालत; बेख़ुदी एक उर्दू भाषी शब्द है जो दो शब्दों के सामजस्य से बना है पहला बेजिसका अर्थ होता है बिना; यदि किसी शब्द के आगे बेशब्द का प्रयोग होता है तो वह बिना का पर्याय होता है जैसे: बेहोश (बिना होश का) तथा बेअक्ल (बिना अक्ल का) इत्यादि; इसके पश्चात दूसरा शब्द है ख़ुदीअर्थात स्वयं (अपना आप); इस प्रकार इस शब्द का पूर्ण अर्थ होता है: बिना अपने आप के, जिसे खुद का भी इल्म ना हो, स्वंय की जानकारी ही ना हो, एक प्रकार से ख्यालों में खोया हुआ व्यक्ति।

आमतौर पर इस शब्द का प्रयोग हिन्दी गानों तथा उर्दू शायरियों में आता रहता है उदाहरण के तौर पर एक पंक्ति बेख़ुदी का आलम है...का अर्थ होता है खुद से गुम होने का क्षण...बेख़ुदी को अंग्रेजी में सेंसलेसनेस कहा जाता है

Bekhudi Shabd Hindi Gaano Tatha Shayari Me Pramukhta Se Prayog Kiye Jaane Waale Shabdon Me Se Ek Hai. Iska Arth Hota Hai Besudh (Koi Aisi Sthiti “Visheshkar Mastishk Ki” Jismein Vyakti Sochne Vicharne Me Saksham Na Ho) Jaise Ek Prakar Ke Nashe Ki Halat. Bekhudi Ek Urdu Bhashi Shabd Hai. Jo Do Shabdon Ke Samjasya Se Bana Hai. Pahla “Be” Jiska Arth Hota Hai: “Bina” Yadi Kisi Shabd Ke Aage “Be” Shabd Laga Hai Toh Vah Bina Ka Prayay Hota Hai. Jaise: Be-hosh (Bina Hosh Ka) Tatha Be-Akal (Bina Akal Ka) Ityadi. Iske Pashchat Dusra Shabd Hai Khudi Arthat Svyam (Apna Aap); Iss Prakar Iss Shabd Ka Purn Arth Hota Hai: Bina Apne Aap Ke, Jise Khud Ka Ilm Na Ho, Jise Svyam Ki Jankari Na Ho, Ek Prakar Se Khyalon Me Khoya Vyakti.

Aamtaur Par Iss Shabd Ka Prayog Hindi Gaano Tatha Urdu Shayariyon Me Aata Rahta Hai. Udaharan Ke Taur Par Ek Pankti “Be-khudi Ka Aalam Hai…” Ka Arth Hota Hai “Khud Se Gum Hone Ka Kshan…” Bekhudi Ko Angreji Me (Senselessness) Kaha Jata Hai.

(Chul/ Chull) चुल्ल का अर्थ meaning in Hindi

यह शब्द हिन्दी गाने लड़की ब्यूटीफुल कर गई चुल्ल...के कारण प्रचलित हुआ है चुल एक हरियाणवी छवि का शब्द है जिसका एक अर्थ कंगालभी हो सकता है या दिल पर काबू ना रहना भीजैसे उपरोक्त गाने की पंक्ति का अर्थ होता है वो सुन्दर लड़की मुझे पागल कर गई, या मैं उसके पीछे पागल हूँ...यदि इसके स्थान पर कहा जाए कि वो लड़की मुझे चुल्ल (बर्बाद) कर गई तब भी इस अर्थ को गलत नही ठहराया का सकता कुल मिलाके चुल्ल शब्द अनेक अर्थों को दर्शाता है अधिक स्पष्टता उदाहरणों में समझिये

चुल या चुल्ल शब्द का कोई आधिकारिक ना अर्थ होते हुए यह किसी असमंजस या हानि की स्थिति को दर्शाता है जैसे कि कोई ऐसी स्थिति जिसमें कुछ भी समझ ना आ रहा हो या एक प्रकार का नुकसान हो गया हो सामान्य तौर पर किसी व्यक्ति से आवश्यकता से अधिक अपेक्षा करने के पश्चात कुछ भी हासिल ना होना चुल्ल शब्द को दर्शाता है

Yah Shabd Hindi Gaane “Ladki Beautiful Kar Gayi Chull…” Ke Karan Prachlit Hua Hai. Chull Ek Haryanvi Chhavi Ka Shabd Hai Jiska Ek Arth “Kangaal” Bhi Ho Sakta Hai. Ya Dil Par Kaabu Na Rahna Bhi. Jaise Uprokt Gaane Ki Pankti Ka Arth Hota Hai “Vo Sundar Ladki Mujhe Pagal Kar Gayi, Ya Mai Uske Pichhe Pagal Hu…” Yadi Iske Sthan Par Kaha Jaaye Ki Vo Ladki Mujhe Chull (Barbad) Kar Gayi Tab Bhi Iss Arth Ko Galat Nahi Thahraya Ja Sakta. Kul Milaake Chull Shabd Aneko Arthon Ko Darshata Hai. Adhik Shapashtata Udaharno Me Samjhiye.

Chul Ya Chull Shabd Ka Koi Adhikarik Arth Na Hote Huye Yah Kisi Asmanjas Ya Hani Ki Sthiti Ko Darshata Hai. Jaise Ki Koi Aisi Sthiti Jismein Kuchh Bhi Samajh Na Aa Raha Ho. Ya Ek Prakar Ka Nuksan Ho Gaya Ho.  Samanya Taur Par Kisi Vyakti Se Avshyakta Se Adhik Apeksha Karne Ke Pashchat Kuchh Bhi Hasil Na Hona Chull Shabd Ko Darshata Hai.

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना क्या है | PM Kisan Samman Nidhi Scheme Information in Hindi

हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पीएम किसान सम्मान निधि की छठी किस्त जारी की गई है इसके तहत प्रधानमंत्री ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग ...