(Jaidad) जायदाद का अर्थ Meaning in Hindi

जायदाद किसी भी चल-अचल सम्पति को अलग-अलग या सयुंक्त रूप से कहा जाता है। यह सम्पति किसी जमीन अर्थात भू-भाग के रूप में हो सकती है या किसी आभूषण के रूप में पड़ी किसी मूल्यवान वस्तु को भी जायदाद कहा जा सकता है। जायदाद को व्यक्ति अपनी मेहनत के बलबूते भी खड़ा कर सकता है तथा कभी-कभी यह पूर्वजों द्वारा उनकी संतानों को विरासत के रूप में दी जाती है। जायदाद पर किसी भी कानूनी तरीके से हक जताया जा सकता है तथा कानूनी तौर पर ही यह किसी को दी जा सकती है इसके अतिरिक्त यदि कोई व्यक्ति गैर-कानूनी तरीके से जायदाद पर अपना हक जताता है तो उसके हक का हनन किया जा सकता है। जायदाद किसी भी रूप में हो सकती है जैसे कि कोई मकान, दूकान, खाली जमीन, खेत या कारखाना इत्यादि। सरल शब्दों में कहा जाए तो किसी भी प्रकार की मूल्यवान वस्तु जो चल या अचल या दोनों हो सकती है तथा किसी भी समय मुद्रा रूप में परिवर्तीत की जा सकती है जायदाद कहलाती है। जायदाद शब्द के प्रयायवाची हैं: धन-सम्पति, जमीन या मूल्यवान वस्तु। जायदाद को अंग्रेजी में प्रॉपर्टी कहा जाता है।

(Jaal) जाल का अर्थ Meaning in Hindi

जाल किसी धागे, रेशम या किसी बहुत ही बारिक तरीके से बुनी गयी जालीनुमा संरचना होती है जो किसी चीज को पकड़ने या बाँधने के काम में आती है यह सरंचना इस तरह बुनी गई होती है कि धागा हर नियमित दूरी के बाद एक दूजे में फसा होता है तथा अलग हो पाने में सक्षम नही होता। जाल किसी धागे/ रस्सी से भी बनाया जा सकता है और लोहे की पतली तारों से भी जो कि उपयोगिता के अनुसार अलग-अलग जगह प्रयोग किए जाते हैं। इसके अतिरिक्त मकड़ी भी एक बारीक जाल का निर्माण करती है तथा उसमें अपने शिकार फसाती है। इसी तरीके का इस्तेमाल करते हुए मनुष्य जाल की सहायता से मछलियों को पकड़ता है जो कि जीवनयापन का एक जरिया है। इसके अतिरिक्त किसी को अपनी बातों में बहकाना भी जाल में फांसना कहलाता है जिसमें शब्दों का जाल बुना जाता है। अन्य शब्दों में कहा जाए तो एक जैसी वस्तुओं को एक दूजे से बाँध कर या जोड़ कर बनाई गई कोई बड़ी सरंचना जाल कहलाती है। जाल को अंग्रेजी में नेट कहा जाता है।

वर्ण शंकर का अर्थ | Varna Shankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...