(Sangya) संज्ञा का अर्थ Meaning in Hindi

संज्ञा व्याकरण का एक शब्द है सरल शब्दों में समझा जाए तो “नाम” को ही संज्ञा कहा जाता है। जब संसार में या ब्रहामंड में स्थित कुछ भी हो जब उसे एक नाम दे दिया जाता है तब उस नाम को हिन्दी व्याकरण में संज्ञा कहा जाता है। इस प्रकार से संज्ञा शब्द “नाम” का प्रयायवाची होता है।

इस संसार में स्थित हर एक प्राणी, वस्तु, संजीव, निर्जीव, भाव, गुण, इत्यादि सभी को किसी ना किसी नाम से संबोधित किया जाता है उसी नाम को व्याकरण में संज्ञा कहा गया है। जैसे अगर आपका नाम “किशोर” है तो यह आपकी संज्ञा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

अत्र तत्र सर्वत्र का अर्थ | Atra Tatra Sarvatra Meaning in Hindi

हिन्दी के सुप्रसिद्ध व्यंग्यकार शरद जोशी द्वारा लिखित पुस्तक "यत्र तत्र सर्वत्र" के प्रकाशन के बाद से इस शब्द की आम जनों में प्रसि...