(Sangya) संज्ञा का अर्थ Meaning in Hindi

संज्ञा व्याकरण का एक शब्द है सरल शब्दों में समझा जाए तो “नाम” को ही संज्ञा कहा जाता है। जब संसार में या ब्रहामंड में स्थित कुछ भी हो जब उसे एक नाम दे दिया जाता है तब उस नाम को हिन्दी व्याकरण में संज्ञा कहा जाता है। इस प्रकार से संज्ञा शब्द “नाम” का प्रयायवाची होता है।

इस संसार में स्थित हर एक प्राणी, वस्तु, संजीव, निर्जीव, भाव, गुण, इत्यादि सभी को किसी ना किसी नाम से संबोधित किया जाता है उसी नाम को व्याकरण में संज्ञा कहा गया है। जैसे अगर आपका नाम “किशोर” है तो यह आपकी संज्ञा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्ण शंकर का अर्थ | Varna Shankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...