(Sangya) संज्ञा का अर्थ Meaning in Hindi

संज्ञा व्याकरण का एक शब्द है सरल शब्दों में समझा जाए तो “नाम” को ही संज्ञा कहा जाता है। जब संसार में या ब्रहामंड में स्थित कुछ भी हो जब उसे एक नाम दे दिया जाता है तब उस नाम को हिन्दी व्याकरण में संज्ञा कहा जाता है। इस प्रकार से संज्ञा शब्द “नाम” का प्रयायवाची होता है।

इस संसार में स्थित हर एक प्राणी, वस्तु, संजीव, निर्जीव, भाव, गुण, इत्यादि सभी को किसी ना किसी नाम से संबोधित किया जाता है उसी नाम को व्याकरण में संज्ञा कहा गया है। जैसे अगर आपका नाम “किशोर” है तो यह आपकी संज्ञा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

द्वैतवाद क्या है / Dvaitavad kya hai / Dvaitavad meaning in Hindi

द्वैतवाद धर्म से संबंधित एक सिद्धांत है, जो कहता है कि मनुष्य और भगवान अलग-अलग वास्तविकताएं हैं, यह सिद्धांत मध्वाचार्य द्वारा दिया गया है, ...