(Talaq) तलाक का अर्थ Meaning in Hindi

तलाक को एक प्रक्रिया या एक प्रकार का निर्णय कहा जा सकता है जिसके द्वारा विवाह के बंधन में बंधे पुरुष व स्त्री जो कि पति-पत्नी के रूप में एक दूजे के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को निभा रहे थे; वे इन जिम्मेदारियों से मुक्त हो जाते हैं। तलाक के बाद पति या पत्नी द्वारा भूतपूर्व रिश्ते की तर्ज पर एक दूजे पर किसी भी प्रकार का दबाव बनाना या जबरदस्ती हक़ जताना कानून के अनुसार दण्डनीय हो जाता है। तलाक पुरुष व स्त्री को एक दुसरे से स्वतंत्र कर देता है। हालांकि धार्मिक भावनाओं के चलते कई धर्मों ने इसे पाप की संज्ञा दी है व सामाजिक तौर पर तलाक को एक मनसिक पीड़ा के रूप में देखा जाता है क्योंकि तलाकशुदा पुरुष व स्त्री को समाज में सम्मान की दृष्टि से नहीं देखा जाता। परन्तु कानून कहता है कि एक दुसरे के साथ जहन्नुम जैसी ज़िन्दगी बिताने से अच्छा अलग रह कर एक नए जीवन की शुरुवात किया जाना ज्यादा बेहतर है कानून इसी नियम का अनुसरण करता है व इसी कारण यदि पति पत्नी की इच्छा हो तो तलाक के हक़ में सदैव उनके साथ खड़ा रहता है।

अन्य शब्दों में तलाक एक कानूनी अधिकार है जो प्रत्येक देश के प्रत्येक नागरिक को बिना भेदभाव के दिया जाता है। किसी भी देश में तलाक के नियम अलग हो सकते हैं जो कि समय समय पर संशोधित भी होते रहते हैं इसी प्रकार तलाक के विषय में धर्मों के भी अपने अलग अलग विचार हो सकते हैं। तलाक को अंग्रेजी में डाइवोर्स (Divorce) कहा जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...