(Shiksha) शिक्षा का अर्थ Meaning in Hindi

एक पीढ़ी द्वारा अपनी आगे आने वाली पीढ़ी को अपना ज्ञान हस्तांतरित करने की प्रक्रिया को शिक्षा कहा जाता है। शिक्षा के माध्यम से वर्तमान पीढ़ी भविष्य की पीढ़ी को ज्ञान के साथ साथ वैचारिक ज्ञान ,शास्त्र विद्या व बहुत सी कलाएँ भी सिखाती है तथा वो सब जो वर्तमान पीढ़ी ने अपने अनुभव से सीखा है; जो भी उन्हें अपने पूर्वजों से प्राप्त हुआ हैं उस ज्ञान का मंथन करके अपने आगे आने वाली पीढ़ी को देना शिक्षा का मुख्य उद्देश्य है।

प्रत्येक पीढ़ी अपनी पूर्वजो से प्राप्त ज्ञान को एक अलग ऊंचाई तक ले जाने का काम करती है व स्वयं का अस्तित्व समाप्त होने से पूर्व अपने आगे की पीढ़ी को विरासत के रूप में दे जाती है।

कोई भी व्यक्ति शिक्षा को दो रूप में ग्रहण करता है:
1. औपचारिक शिक्षा
2. अनौपचारिक शिक्षा

ओपचारिक शिक्षा: वह शिक्षा जो व्यवस्थित ढंग से सिखाई व पढ़ाई जाती है इस शिक्षा के मुख्य उद्देश्य में वह सब कुछ आने वाली पीढ़ी के संज्ञान में लाना अनिवार्य होता है जो वर्तमान पीढ़ी ने अपने अनुभव से सीखा है। यह ज्ञान विद्यालयों में पढ़ाया जाता है इसमें व्यक्ति को अपने इतिहास की जानकारी तो होती ही है साथ-साथ वो सारा ज्ञान उसे आसानी से व बहुत कम समय में मिलता है जिसे अस्तित्व में आने में पीढ़ियों का समय लगा। उदाहरण के तौर पर भाषा ज्ञान; भाषा को बनने में हजारों साल का समय लगा है परन्तु औपचारिक शिक्षा द्वारा इसका ज्ञान कुछ ही वर्षो में अभयास द्वारा बच्चो को लिखित व मौखिक दोनों रूपों में दे दिया जाता है औपचारिक शिक्षा में भाषा ज्ञान के अतिरिक्त कला ज्ञान, विद्या, कौशल, इतिहास की जानकारी, सांस्कृतिक ज्ञान आदि शामिल होते हैं।      
अनौपचारिक शिक्षा: वह  शिक्षा जो व्यक्ति स्वयं के अनुभव के आधार पर सीखता है अर्थात व्यक्ति का स्वयं का विवेक जो उसे सीखाता है अनौपचारिक शिक्षा कहलाती है यह शिक्षा अलग-अलग लोगों के सम्पर्क में आने से प्राप्त होती है तथा व्यक्ति सम्पूर्ण जीवन में अनौपचारिक शिक्षा को बिना रुके ग्रहण करता है जो उसके व्यक्तित्व का निर्माण करती है।

शिक्षा को अंग्रेजी में एजुकेशन कहा जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Monsoon Satra Meaning in Hindi

मॉनसून सत्र में भारत की संसद में जुलाई और अगस्त के महीने में सांसदों की होने वाली बैठक को कहा जाता है भारत की संसद में 1 वर्ष में कुल 3 सत्र...