जुस्तजू का अर्थ | Justaju meaning in hindi

जब इंसान किसी वस्तु को पाने की चाह रखता है तथा उसे उसकी तलब लगने लगती है तो उसकी इस अधूरी चाहत के लिए जुस्तजू शब्द का प्रयोग किया जाता है। इसका हिन्दी में अर्थ होता है इच्छा। जुस्तजू बहुत अधिक की जाने वाली चाहत को दर्शाता है अर्थात कोई ऐसी चाहत जो ज़िन्दगी में सबसे ज्यादा जरूरी लगने लगे। जैसे: प्रेमियों की आपसी चाहत, सफलता की चाहत इत्यादि।
उदाहरण: हमें जुस्तजू है तुम्हे अपना बनाने की।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...