अटक का अर्थ | Atak meaning in hindi

किसी भी प्रकार की रुकावट जो कोई कार्य पूर्ण होने में बाधा उत्पन्न करे को उर्दू में अटक कहा जाता है। अटक का हिन्दी में अर्थ होता है विघ्न। आमतौर पर इस शब्द का प्रयोग हिन्दी क्षेत्रों में भी देखने को मिलता है। किसी काम का बाधा के चलते रूक जाना अटक जाना कहलाता है। अटक से ही अटकना शब्द बनता है। चलते-चलते किसी वस्तु का अचानक एक जगह पर स्थिर हो जाने को अटक शब्द से संबोधित किया जाता है। सरल शब्दों में कहा जाए तो किसी गतिमान वस्तु का अचानक से रुक जाना अटकना कहलाता है तथा अटकना अटक शब्द का क्रियात्मक रूप है।
उदाहरण: 1). तुम्हारा यह कार्य चलता-चलता अटक कैसे गया।
2). यह पतंग पेड़ के तने पर अटका हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...