एक हाथ से ताली न बजना का अर्थ | Ek hath se taali na bajna meaning in hindi

बिना किसी अन्य की सहायता के कोई काम जब नही हो सकता जैसे कि बात करने के लिए एक बोलने वाला व सहयोगी सुनने वाला होना अवश्यक। दोनों एक दूसरे के पूरक हैं इस प्रकार की स्थिति जब पूरक के होने की आवश्यकता को दर्शाया जाता है तो उपरोक्त मुहावरे का प्रयोग किया जाता है। एक हाथ से ताली न बजना मुहावरे का मतलब होता है बिना सहयोग के काम न होना। ताली दोनों हाथ एक दूसरे से टकराने पर उठने वाली आवाज़ को कहा जाता है जो कि खुशी जाहिर करने या किसी के सम्मान में बजाई जाती है। ताली बजाने के लिए दोनों हाथों का सहयोग जरूरी है अकेला हाथ ताली नही बजा सकता। हाथों का यह सहयोग; सहयोग के साथ होने वाले अन्य कामों को दर्शाने के लिए पर्याय के रूप में प्रयोग किया जाता है। एक हाथ से ताली न बजना मुहावरे का वाक्य में प्रयोग निम्न हैं।
उदाहरण: 1). तुमने भी जरूर कुछ गलत कहा होगा ऐसे लड़ाई कैसे हो गई एक हाथ से ताली नही बजती।
2). तुम दोनों की मिली भगत से यह घोटाला हुआ है एक हाथ से ताली नही बजती।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्ण शंकर का अर्थ | Varna Shankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...