(Shiksha) शिक्षा का अर्थ Meaning in Hindi

एक पीढ़ी द्वारा अपनी आगे आने वाली पीढ़ी को अपना ज्ञान हस्तांतरित करने की प्रक्रिया को शिक्षा कहा जाता है। शिक्षा के माध्यम से वर्तमान पीढ़ी भविष्य की पीढ़ी को ज्ञान के साथ साथ वैचारिक ज्ञान ,शास्त्र विद्या व बहुत सी कलाएँ भी सिखाती है तथा वो सब जो वर्तमान पीढ़ी ने अपने अनुभव से सीखा है; जो भी उन्हें अपने पूर्वजों से प्राप्त हुआ हैं उस ज्ञान का मंथन करके अपने आगे आने वाली पीढ़ी को देना शिक्षा का मुख्य उद्देश्य है।

प्रत्येक पीढ़ी अपनी पूर्वजो से प्राप्त ज्ञान को एक अलग ऊंचाई तक ले जाने का काम करती है व स्वयं का अस्तित्व समाप्त होने से पूर्व अपने आगे की पीढ़ी को विरासत के रूप में दे जाती है।

कोई भी व्यक्ति शिक्षा को दो रूप में ग्रहण करता है:
1. औपचारिक शिक्षा
2. अनौपचारिक शिक्षा

ओपचारिक शिक्षा: वह शिक्षा जो व्यवस्थित ढंग से सिखाई व पढ़ाई जाती है इस शिक्षा के मुख्य उद्देश्य में वह सब कुछ आने वाली पीढ़ी के संज्ञान में लाना अनिवार्य होता है जो वर्तमान पीढ़ी ने अपने अनुभव से सीखा है। यह ज्ञान विद्यालयों में पढ़ाया जाता है इसमें व्यक्ति को अपने इतिहास की जानकारी तो होती ही है साथ-साथ वो सारा ज्ञान उसे आसानी से व बहुत कम समय में मिलता है जिसे अस्तित्व में आने में पीढ़ियों का समय लगा। उदाहरण के तौर पर भाषा ज्ञान; भाषा को बनने में हजारों साल का समय लगा है परन्तु औपचारिक शिक्षा द्वारा इसका ज्ञान कुछ ही वर्षो में अभयास द्वारा बच्चो को लिखित व मौखिक दोनों रूपों में दे दिया जाता है औपचारिक शिक्षा में भाषा ज्ञान के अतिरिक्त कला ज्ञान, विद्या, कौशल, इतिहास की जानकारी, सांस्कृतिक ज्ञान आदि शामिल होते हैं।      
अनौपचारिक शिक्षा: वह  शिक्षा जो व्यक्ति स्वयं के अनुभव के आधार पर सीखता है अर्थात व्यक्ति का स्वयं का विवेक जो उसे सीखाता है अनौपचारिक शिक्षा कहलाती है यह शिक्षा अलग-अलग लोगों के सम्पर्क में आने से प्राप्त होती है तथा व्यक्ति सम्पूर्ण जीवन में अनौपचारिक शिक्षा को बिना रुके ग्रहण करता है जो उसके व्यक्तित्व का निर्माण करती है।

शिक्षा को अंग्रेजी में एजुकेशन कहा जाता है।

(Sammaan) सम्मान का अर्थ Meaning in Hindi

किसी के प्रति आदर का भाव रखना उस व्यक्ति का सम्मान करना कहलाता है।

जैसे घर पर हम किसी मेहमान के प्रति आदर भाव रखते हैं व उनकी दिल से इज़्ज़त करते है तथा उसके द्वारा कही गयी हर बात का मान रखते है इस सम्पूर्ण भाव को सम्मान का नाम दिया जाता है।

किसी भी व्यक्ति का सम्मान उसकी सामाजिक प्रतिष्ठा पर निर्भर करता है जो अन्य व्यक्तियों को उस के आगे बिना किसी द्वेष के सिर झुकाने व उसकी बात का आदर करने की आंतरिक इच्छा को प्रभल बनाता है।

समाज में सम्मान का मापन भी किया जा सकता है जो इस बात पर निर्भर करता है कि समाज का कितना व कोन सा वर्ग उस व्यक्ति विशेष को आदर दे रहा है। सम्मानित व्यक्ति का आदर उस के चरित्र से आँका जाता है।

अन्य अर्थ:

आदर: जब हम किसी व्यक्ति को आदर देते है तो यह उस व्यक्ति का सम्मान करना कहलाता है।

इज़्ज़त: किसी व्यक्ति की बात को अन्य लोगों द्वारा जितनी गम्भीरता से सुना जाता है व उन लोगों में उसका अनुसरण करने की आंतरिक इच्छा जितनी प्रबल होती है वह व्यक्ति की सामाजिक इज़्ज़त का अंकन करती है इज़्ज़त शब्द सम्मान का पर्यायवाची है।

सम्मान को अंग्रेजी में रेस्पेक्ट कहा जाता है।

(Sparsh) स्पर्श का अर्थ Meaning in Hindi

हमारी त्वचा का भौतिक रूप से किसी अन्य वस्तु से सम्पर्क में आने के बाद होने वाला एहसास स्पर्श कहलाता है।

स्पर्श करने से हम किसी वस्तु की बाहरी संरचना का अंदाजा लगा सकते हैं व यदि हम इसे पूर्णतः स्पर्श कर सके तो हम इसके आकार की अनुभूति भी कर सकते हैं।

स्पर्श का अनुभव हम चार ज्ञानेन्द्रियों आँख, कान, नाक व जिव्हा द्वारा नही कर सकते यह त्वचा द्वारा ही महसूस किया जा सकता है।

यद्दपि जिव्हा भी कुछ हद तक स्पर्श का ज्ञान करवा सकती है परंतु इसमें स्वाद का ज्ञान मिश्रत होगा तथा इसे प्रत्येक स्थान पर स्पर्श कर पाना संभव नही होता।

इसके अतिरिक्त व्याकरण में क से लेकर म तक के वर्णो को स्पर्श कहा जाता है क्योंकि इनके उच्चारण के समय जीभ कुछ ऊपर उठकर मुख के किसी भाग को स्पर्श करती है व कुछ समय के लिए श्वास को रोक देती है।

अन्य अर्थ:

छूना: छूना एक क्रिया है जिसमें त्वचा के किसी भाग को अन्य वस्तु के भौतिक सम्पर्क में लाया जाता है। छूना शब्द स्पर्श का पर्यायवाची है

स्पर्श को अंग्रेजी में टच कहा जाता है।

(Charan) चरण का अर्थ Meaning in Hindi

चलते समय जब हम एक कदम आगे बढ़ाते हैं उस समय दोनों पैरों की जो जमीन पर आश्रित स्तिथि होती है वह चरण कहलाती है।

पहला पांव जहाँ आश्रित होगा यदि उसे पहला चरण कहा जाए तो आगे दूसरा पैर जमीन पर जिस जगह रखा जायेगा वह दूसरा चरण कहलाएगा। इसी प्रकार चलते समय हम चरणों में आगे बढ़ते है।

क्योंकि चरण शब्द पूर्णतः पाँव की स्थिति पर निर्भर है इसी कारण यह पाँव शब्द के पर्यायवाची के रूप में प्रसिद्ध हो चुका है।

इसके अतिरिक्त किसी क्रिया या खेल को जब विभिन्न भागों में श्रृंखला पूर्वक बाँट दिया जाता है तो उसका प्रत्येक श्रंखलाबद्ध भाग चरण कहलाता है।

चरण शब्द क्रिया के भागों को आगे तोड़ने के लिए भी प्रयोग किया जाता है जैसे यदि कहा जाये "अब खेल के प्रथम भाग का द्वितीय चरण शुरू होगा" इस वाक्य में खेल को भागों में बांटा गया है व भागों को आगे चरणों में बांटा गया है।

इसके अतिरिक्त किसी छंद के एक पद को भी चरण की संज्ञा दी जाती है। एक से अधिक अर्थ होने के कारण चरण एक बहुअर्थ शब्द है।

चरण को अंग्रेजी में स्टेप कहा जाता है।

(Asamarth) असमर्थ का अर्थ Meaning in Hindi

वह जिसमें कार्य करने के लिए पर्याप्त सामर्थ्य न हो या किसी तरह की पूरी जानकारी दे पाने में सक्षम ना हो असमर्थ कहलाता है।

असमर्थता किसी भी तरह से आंकी जा सकती है:
(1). बल के आधार पर
(2). ज्ञान के आधार पर
(3). तीव्रता के आधार पर इत्यादि

1. बल के आधार पर व्यक्ति असमर्थ तब होता है जब किसी कार्य को करने के लिए पर्याप्त बल वह ना रखता हो जैसे: "राम 100 किलो भार उठा सकता है किन्तु मोहन मात्र 90 किलो उठाने में ही सक्षम है" तो कहा जा सकता है कि मोहन 100 किलो वजन उठाने में असमर्थ है।

2. तीव्रता के आधार पर कोई भी असमर्थ तब कहलायेगा जब वह किसी भी कार्य को करने में उतनी तेजी न दिखा सके जितनी तेजी की मांग की गयी है जैसे 1600  मील की दूरी 5 मिनट में तय कर पाने में बहुत से व्यक्ति असमर्थ होते है।

असमर्थ को अंग्रेजी में अनेबल कहा जाता है।

अमोनियम नाइट्रेट का अर्थ | Ammonium Nitrate Meaning in Hindi

04 अगस्त 2020 को लेबनान की राजधानी बेरूत में एक बड़ा विस्फोट हुआ। जिसमें 73 लोगों की मौत हुई तथा 4000 के करीब लोग घायल हो गए। इस हादसे के ब...