भाषाविद का अर्थ | Bhashavid Meaning in Hindi

भाषाविद उस व्यक्ति को कहा जाता है जो भाषाओं के प्रति विशेष रुचि रखता हो और उसे बहुत सी भाषाओं का ज्ञान हो। अधिक से अधिक भाषाओं के ज्ञान को प्राप्त करने की रूचि रखने वाला या ज्ञान रखने वाला व्यक्ति भाषाविद कहलाता है। भाषाविद मुख्य तौर पर प्राचीन भाषाओं पर विशेष नजर रखता है तथा उन को वर्तमान भाषा में परिवर्तित कर उनके सही अर्थ हमें समझाता है भाषाविद को ज्ञान होता है कि भाषा ने शुरू से लेकर अब तक किस प्रकार से विकास किया है और कैसे एक भाषा दूसरी में बदलते हुए आज की वर्तमान भाषा में परिवर्तित हुई है।

उदाहरण के तौर पर हम संस्कृत और हिंदी को देख सकते हैं संस्कृत से ही बहुत सी भाषाएं निकली है और हिंदी भी उन्ही में से एक हैं तो यदि हम ध्यान से देखेंगे तो हमें संस्कृत और हिंदी में बहुत ही समानताएं मिलेंगी और इन्हीं समानताओं के आधार पर भाषाविद विकास क्रम का विश्लेषण करते हैं और जानते हैं कि कैसे भाषा बदली है और यदि हम पुरानी भाषा में कोई शब्द पढ़ रहे हैं तो भाषाविद उसे बदलकर हमें बताता है कि अब की भाषा में कस शब्द का अर्थ क्या बन चुका है इस प्रकार हम कह सकते हैं कि भाषाविद को भाषा के बारे में संपूर्ण ज्ञान होता है और वह भाषा के प्रति अपनी पूरी रुचि रखता है भाषाविद को अंग्रेजी में लिंग्विस्ट (Linguist) कहा जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...