कोष मूलो दंड का अर्थ | Kosh Mulo Dand Meaning in Hindi

भारतीय आयकर विभाग की मुख्य "टैगलाइन" के रूप में जिस वाक्य का प्रयोग किया गया है वह है "कोष मूलो दण्ड" यह वाक्य आचार्य कौटिल्य द्वारा रचित अर्थशास्त्र से लिया गया है। तीन शब्दों से मिलकर बने इस वाक्य में कोष का अर्थ होता है धन/ संपति, मूलो का अर्थ होता है "मूल रूप से" और दण्ड शब्द का अर्थ होता है डंडा/ छड़ी अर्थात शक्ति का प्रतीक"। इस प्रकार "कोष मूलो दण्ड" वाक्य का संयुक्त अर्थ निकलता है "धन मूल शक्ति है" या यूँ कहें कि "धन किसी भी राज्य की मूल शक्ति है"।

यह वाक्य अपने में संपूर्ण सत्यता लेकर चलता है धन-संपदा किसी भी राज्य की मूल शक्ति होती है धन से वो सब कुछ खरीदा जा सकता है जो किसी राज्य के संचालन हेतु आवश्यक होता है। चाहे वह सैन्य शक्ति हो या जीविका के मूल साधन; इन सब की प्राप्ति धन से की जा सकती है। इसलिए कहा गया है कि धन किसी भी राज्य की मूल शक्ति है अर्थात जिस राज्य के पास सर्वाधिक धन है वह सर्वाधिक शक्तिशाली है।

2 टिप्‍पणियां:

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...