तशरीफ़ का अर्थ | Tashrif Meaning in Hindi

तशरीफ़ मूल रूप से अरबी भाषा का शब्द है जो मुस्लिम शासकों के भारत में आने के पश्चात भारत में भी प्रचलित हो गया है। तशरीफ़ का अर्थ होता है इज्जत बख्शना या सम्मान देना। जब किसी को सम्मान देने की बात की जाती है तो उसे तशरीफ़ के जरिए शब्द बनाकर बोला जाता है। उदाहरण के तौर पर यदि कोई कहे "तशरीफ़ रखिए" तो इसका मतलब होगा "इज्जत रखिए" अर्थात आपने बैठने के लिए जो "आसन" उस व्यक्ति को दिया है वो उस व्यक्ति के सम्मान में दिया है और यदि वह उस पर बैठता है तो इसका अर्थ है कि उसने आपका सम्मान कबूल किया है आपका सम्मान रखा है।

इसी प्रकार यदि कोई कहता है कि "तशरीफ़ ले जाइए" तो इसका मतलब कि जो सम्मान उसको दिया गया है उसे लेकर चला जाए। यदि यह शब्द प्रेम से बोला जाता है तो अर्थ होगा कि सम्मानपूर्वक जाइए। परंतु यदि गुस्से में बोला जाए इसका अर्थ यह होगा कि स्थिति ऐसी हो गई है यदि वह व्यक्ति वहां से नहीं जाता तो उसका सम्मान कर पाना कठिन हो जाएगा और उसे अपमान सहना पड़ेगा इसलिए जो सम्मान उसको मिला है उसे लेकर चला जाए।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...