मीरी पीरी का अर्थ | Miri Piri Meaning in Hindi

मीरी-पीरी सिख धर्म से जुड़ा हुआ शब्द है वास्तव में जब सिखों के छठे गुरु साहिब श्री गुरु हरगोबिंद जी ने गुरुगद्दी संभाली तो उन्होंने दो तलवारें धारण की। इन तलवारों को मीरी-पीरी नाम दिया गया। मीरी शब्द मीर से बना है जिसका अर्थ होता है नेता या शासक। अर्थात मीरी नामक तलवार भौतिक संसार पर विजय पाने का प्रतीक थी। वहीं पीरी शब्द पीर से बना है जिसका अर्थ होता है गुरु। अर्थात पीरी नामक तलवार आध्यात्मिक ज्ञान पर विजय पाने का प्रतीक थी। इस प्रकार भौतिक संसार व आध्यात्म पर विजय पाने के लिए गुरु साहिब ने मीरी-पीरी नामक दो तलवारों को धारण किया था। इन दोनों तलवारों में से गुरु साहिब ने पीरी को श्रेष्ठ माना था।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्ण शंकर का अर्थ | Varna Shankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...