वजू का अर्थ | Waju Meaning in Hindi

वजू शब्द मुस्लिम धर्म से जुड़ा हुआ है। जब मुस्लिम धर्म में नमाज पढ़ी जाती है तो उससे पूर्व शुद्धि के लिए हाथ पांव धोए जाते हैं तथा हाथ पाँव धोने की इसी शुद्धि क्रिया को "वजू" कहा जाता है। वजू करने के लिए मुस्लिम धर्म में कुछ नियम बनाए गए हैं जिसके अनुसार शरीर के जिस भाग को वजू किया जाता है उसका पूरी तरह भीगना अनिवार्य है। उदाहरण के तौर पर यदि हाथ में अंगूठी पहनी हो तो वजू करते समय पानी का अंगूठी के नीचे तक जाना अनिवार्य है तभी वजू संपूर्ण हुआ माना जाता है। वहीं यदि पाँव धोया है तो पूरे पाँव का भीगना अनिवार्य है यदि किसी जगह से पाँव सूखा रह जाता है तो वजू संपूर्ण हुआ नही माना जाता।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...