हश्र का अर्थ | Hashr Meaning in Hindi

हश्र शब्द के मुख्य रूप से दो अर्थ निकलते हैं। पहले अर्थानुसार आम तौर पर जब हिंदी भाषी क्षेत्रों में हश्र शब्द का इस्तेमाल किया जाता है तो इसका अर्थ होता है "कयामत या अंत" जब कोई कहे कि आज हश्र का दिन है तो इसका अर्थ होगा कि "आज कयामत का दिन है/ या आज अंतिम दिन है" अर्थात हश्र शब्द किसी वस्तु के अंत की बात करता है।

दुसरे अर्थों में मुसलमान व ईसाई मान्यता के अनुसार हश्र उस दिन को कहा जाता है जब सभी मृत व्यक्ति कब्रों से निकलकर खुदा के सामने उपस्थित होंगे और खुदा उन सबके कर्मों का हिसाब करेगा। मुख्य रूप से मुस्लिम व ईसाई धर्म से सबंधित वे सब छोटे बड़े धर्म जिनमें मृत शरीर को दफनाने का रिवाज है की मान्यताओं के अनुसार जब दुनिया का अंत होगा तो खुदा जमीं पर आएंगे और सभी मृत शरीर कब्रों से निकलकर खुदा के सामने उपस्थित होंगे और खुदा उनके कर्मों के अनुसार उनका इंसाफ करेगा उस दिन को हश्र का दिन कहा जाएगा।

हिंदी भाषी क्षेत्रों में हश्र शब्द को ऐसे वाक्यों में प्रयोग किया जाता हैं जहां इसका अर्थ "अंत" निकलता है उदाहरण के तौर पर हम निम्न वाक्य देख सकते हैं:

उदाहरण वाक्य: अगर युद्ध हुआ तो देखना दुश्मन देश का हश्र क्या होता है।

(इस वाक्य में हश्र का मतलब "अंत" है)

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...