शिक्षार्थ आइए सेवार्थ जाइए का अर्थ | Shiksharth Aaiye Sevarth Jaiye Meaning in Hindi

शिक्षार्थ आइए सेवार्थ जाइए पंक्ति में "शिक्षार्थ" का अर्थ होता है "शिक्षा के उद्देश्य से" और "सेवार्थ" का अर्थ होता है "सेवा के उद्देश्य से" इस प्रकार उपरोक्त वाक्य का सयुंक्त अर्थ निकलता है "शिक्षा प्राप्त करने के उद्देश्य से आइए और सेवा करने के उद्देश्य से जाइए" यह पंक्ति प्रत्येक विद्यालय व कॉलेज के बाहरी द्वार पर लिखी होती है। इसे लिखने का उद्देश्य विद्यार्थियों को अपनी शिक्षा का प्रयोग देश की सेवा के लिए करने हेतु प्रेरित करना है।

शिक्षार्थ आइए सेवार्थ जाइए का English में अर्थ होता है "कम टू लर्न, गो टू सर्व" (Come to learn, Go to serve) अर्थात जब आप विद्यालय में आते हैं तो आपका उद्देश्य केवल शिक्षा पाना होना चाहिए न कि अन्य असामाजिक कार्यों में लिप्त होना और जब आप अपनी शिक्षा पूर्ण करें तो आपका उद्देश्य देश की सेवा करना होना चाहिए न कि असामाजिक कार्य करना। यही इस वाक्य का मूल भाव है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्ण शंकर का अर्थ | Varna Shankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...