घर्षनात्मक बेरोजगारी का अर्थ, मतलब व परिभाषा | Ghrashnatamak Berojgari Meaning in Hindi

जब कोई व्यक्ति एक कार्य को छोड़कर दूसरा कार्य शुरु करता है या एक नौकरी को छोड़ कर दूसरी नौकरी प्राप्त करता है तो कुछ समय के लिए वह बेरोजगार हो जाता है इस प्रकार कुछ समय के लिए उत्पन्न हुई बेरोजगारी को घर्षनात्मक बेरोजगारी के नाम से जाना जाता है। यह बेरोजगारी मूल रूप से विकसित देशों में पाई जाती है जहां पर छँटाई के चलते लोगों को नौकरी से निकाल दिया जाता है जिस वजह से वे एक नौकरी छोड़ दूसरी नौकरी में चले जाते हैं या फिर मांग कम होने के कारण वे अपना व्यापार बदल लेते हैं जिस कारण वे कुछ दिनों के लिए बेरोजगार हो जाते हैं जब तक कि उनके नए व्यापार से या उनकी नई नौकरी से आमदनी आनी शुरू नहीं हो जाती। इस प्रकार व्यापार या नौकरी बदलने के कारण कुछ समय के लिए उतपन्न हुई बेरोजगारी को घर्षनात्मक बेरोजगारी कहा जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...