निम्न सदन का अर्थ, मतलब व परिभाषा | Nimn Sadan Meaning in Hindi

भारत की संसद मुख्य रूप से तीन भागों से मिलकर बनी हुई है पहला भाग है लोकसभा; दूसरा भाग है राज्यसभा और तीसरा भाग है राष्ट्रपति। इन तीनों से मिलकर भारत की संसद का निर्माण होता है। भारत के राष्ट्रपति के अलावा बाकी के दो भागों को हम सदन के नाम से जानते हैं। इन दोनों सदनों में से राज्यसभा को उच्च सदन कहा जाता है और लोकसभा को निम्न सदन के नाम से जाना जाता है। लोकसभा को निम्न सदन इसलिए कहा जाता है क्योंकि यह प्रत्येक 5 वर्ष पश्चात भंग होता है इसके अलावा इसे बीच में भी भंग किया जा सकता है। इसके विपरीत राज्यसभा को उच्च सदन इसलिए कहा जाता है क्योंकि वह एक स्थाई सदन होता है। राज्यसभा का कार्यकाल 6 वर्ष का होता है परन्तु प्रत्येक 2 वर्ष बाद राज्यसभा के एक तिहाई सदस्यों को सेवानिवृत्त कर दिया जाता है जिस कारण यह सदन सदैव अस्तित्व में बना रहता है और कभी भी पूर्ण रूप से भंग नही होता।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...