सरंचनात्मक बेरोजगारी का अर्थ, मतलब व परिभाषा | Saranchnatmak Berojgari Meaning in Hindi

ऐसी बेरोजगारी जो उद्योगों में हो रहे परिवर्तन के चलते पैदा होती है उस बेरोजगारी को सरंचनात्मक बेरोजगारी कहा जाता है। उदाहरण के तौर पर यदि किसी उद्योग में लेखा-जोखा बनाने के लिए 10 व्यक्ति कार्य कर रहे हैं और वहां पर कंप्यूटर स्थापित कर दिए जाते हैं तो कंप्यूटर उन व्यक्तियों के स्थान पर अधिक काम करना शुरू कर देगा जिस वजह से उन व्यक्तियों में से कुछ व्यक्तियों को नौकरी से निकालना पड़ेगा क्योंकि उनकी आवश्यकता नहीं रहेगी। फल स्वरुप निकाले गए व्यक्ति बेरोजगार हो जाएंगे। इस प्रकार से उत्पन्न हुई बेरोजगारी को संरचनात्मक बेरोजगारी (Structural Unemployment) कहा जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

डॉ. मनमोहन सिंह के तीन सुझाव

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व दिग्गज अर्थशास्त्री डॉ. मनमोहन सिंह ने हाल ही में बीबीसी से ईमेल के जरिए बातचीत की; जिसमें उन्होंने कोरोना के क...