पॉइंट टू बी नोटेड माय लॉर्ड का अर्थ | Point to be noted my lord Meaning in Hindi

पॉइंट टू बी नोटेड माय लार्ड एक अंग्रेजी का वाक्य है जो चार शब्दों से मिलकर बना हुआ है पहला शब्द है "पॉइंट" इसका अर्थ होता है "बिंदु"; दूसरा शब्द है "टू बी" इसका अर्थ होता है "होना या किया जाना"; तीसरा शब्द है "नोटेड" इसका अर्थ होता है "दर्ज करना" तथा चौथा शब्द है "माय लार्ड" जो कि एक सम्मान सूचक शब्द है तथा इसका प्रयोग यूनाइटेड किंगडम में जज, पादरी व अन्य गणमान्य व्यक्तियों के सम्मान में किया जाता है। इस प्रकार "पॉइंट टू बी नोटेड माय लार्ड" वाक्य का सयुंक्त अर्थ निकलता है "मेरे आदरणीय; इस बिंदु को दर्ज किया जाना चाहिए" या "मेरे आदरणीय; इस बिंदु पर ध्यान दिया जाना चाहिए"

इस वाक्य का प्रयोग विशेषकर अदालत में किया जाता है जब वकील केस लड़ रहा होता है तो जिन बिंदुओं पर वह अदालत का विशेष ध्यान दिलवाना चाहता है उनके लिए वह "पॉइंट टू बी नोटेड माय लार्ड" शब्द का प्रयोग करता है जैसे कि उदाहरण के रूप में हम यह वाक्य ले सकते हैं "पॉइंट टू बी नोटेड माय लार्ड; अपराधी उस दिन घर से बाहर था" अर्थात वकील चाहता है कि अपराधी के घर से बाहर होने की बात को न्यायाधीश द्वारा विशेष रूप से दर्ज किया जाए। ताकि इस बिंदु का प्रयोग कर आगे केस सुलझाने में सहायता मिल सके। इस प्रकार वकील द्वारा किसी विशेष बात पर अदालत का ध्यान दिलवाने के लिए "पॉइंट टू बी नोटेड माय लार्ड" वाक्य का प्रयोग किया जाता है।

चारासाज़ / चारासाज़ी का अर्थ | Charasaaz / Charasazi Meaning in Hindi

चारासाज़ मूल रूप से उर्दू भाषा का शब्द है जिसका प्रयोग बहुतयात तौर पर उर्दू शायरी में किया जाता है। चारासाज़ का हिंदी में अर्थ होता है "इलाज करने वाला"। वह व्यक्ति जो किसी बीमार का इलाज करता है को "चारासाज़" कहा जाता है। चारासाज़ को अंग्रेजी भाषा में डॉक्टर तथा हिंदी भाषा चिकित्सक कहा जाता है।

चारासाज़ इलाज करने वाला होता है तथा इलाज करने की प्रक्रिया को चारासाज़ी कहा जाता है। यह शब्द उर्दू के महान शायरों ने अपनी शायरी में सम्मिलित किया है। उदाहरण के तौर पर हम उर्दू के महान शायर जॉन एलिया का नाम ले सकते हैं जिनकी एक शायरी इस प्रकार है : "चरासाज़ों की चारासाज़ी से दर्द बदनाम तो नही होगा... दवा देदो लेकिन ये बता दो... आराम तो नही होगा..."

गायत्री मंत्र का अर्थ | Gayatri Mantra Meaning in Hindi

गायत्री मंत्र यजुर्वेद व ऋग्वेद के क्रमशः मंत्र व छन्द का सयुंक्त रूप है। यद्द्पि इस महान मंत्र का अर्थ कुछ शब्दों में नही समझाया जा सकता लेकिन इस महान मंत्र का आधार समझने के लिए निम्न अर्थ पढ़ा जा सकता है।

ॐ भूर् भुवः स्वः।
तत् सवितुर्वरेण्यं।
भर्गो देवस्य धीमहि।
धियो यो नः प्रचोदयात् ॥

ॐ = परब्रह्मा का अभिवाच्य शब्द

भूः =  भूलोक

भुवः = अंतरिक्ष लोक

स्वः = स्वर्गलोक

त = परमात्मा अथवा ब्रह्म

सवितुः = ईश्वर अथवा सृष्टि कर्ता

वरेण्यम = पूजनीय

भर्गः =अज्ञान तथा पाप निवारक

देवस्य = ज्ञान स्वरुप भगवान का

धीमहि = हम ध्यान करते है

धियो = बुद्धि प्रज्ञा

योः = जो

नः = हमें

प्रचोदयात् = प्रकाशित करें

सरल व्याख्या : हम तीनों लोकों के वरण करने योग्य सर्वशक्तिमान ईश्वर का ध्यान करते हैं वह हमारी बुद्धि को प्रेरित (जागृत) करे।

पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग का अर्थ | Public Sector Undertaking Meaning in Hindi

पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग तीन शब्दो से मिलकर बना हुआ है पहला शब्द है Public अर्थात "सार्वजनिक"; दूसरा शब्द है Sector अर्थात "क्षेत्र"; तथा तीसरा शब्द है Undertaking अर्थात "उपक्रम" इन तीनों शब्दों से बने वाक्य का हिंदी में अर्थ होता है "सार्वजनिक क्षेत्रक उपक्रम"। पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग उन कंपनियों को कहा जाता है जिनमें 50% से अधिक हिस्सेदारी सरकार की होती है। यह हिस्सेदारी केंद्र सरकार या राज्य सरकार या दोनों सरकारों की सयुंक्त रूप से हो सकती है।

कुछ पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग कंपनियों में सरकार की 100% हिस्सेदारी भी होती है। आम बोलचाल में पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग को PSU बोला जाता है भारत में बहुत सी कंपनियां PSU के अंतर्गत आती हैं जैसे कि NTPC (एनटीपीसी), ONGC (ओएनजीसी) BHEL (बीएचईएल) इत्यादि।

एम आरएनए वैक्सीन का अर्थ | mRNA Vaccine Meaning in Hindi

चर्चा में क्यों : हाल ही में 16 नवंबर को अमेरिकी कंपनी मॉडर्ना ने अमेरिका के राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान के साथ मिलकर विकसित किए गई वैक्सीन ...