आमंत्रण व निमंत्रण में अंतर | Difference Between Amantran and Nimntran

आमंत्रण व निमंत्रण दोनों शब्द एक दूसरे के पर्यायवाची प्रतीत होते हैं लेकिन वास्तव में इन दोनों शब्दों में कुछ सूक्ष्म अंतर हैं जो इन्हें एक दूसरे से भिन्न बनाते हैं। हिंदी भाषा को गहराई से समझने के लिए इन दोनों शब्दों के बीच केे इन सूक्ष्म अंतरों को समझना अनिवार्य है। आमंत्रण व निमंत्रण शब्द में निम्न अंतर हैं।


1. आमंत्रण शब्द का प्रयोग उस समय किया जाता है जब सामने वाले व्यक्ति का आना उसकी अपनी स्वेच्छा पर निर्भर करता है यदि वह आना चाहे तो आ सकता है और यदि उसे कोई समस्या है तो वह नही भी आ सकता इसमें आने की कोई अनिवार्यता नही होती। उदाहरण के तौर पर जागरण इत्यादि के आयोजन में आमंत्रण भेजा जाता है जिसमें लोग स्वेच्छा से आते हैं यदि कोई व्यक्ति नही आना चाहे तो वह उसकी अपनी इच्छा होती है। वहीं किसी कवि या गायक को स्टेज पर बुलाने के लिए भी आमंत्रित ही किया जाता है।

वहीं निमंत्रण शब्द का प्रयोग उस समय किया जाता है जब सामने वाले व्यक्ति के आने में अनिवार्यता का भाव हो अर्थात उसका आना अनिवार्य हो। उदाहरण के तौर पर शादी-विवाह या किसी पारिवारिक कार्यक्रम में निमंत्रण भेजा जाता है जिसमें आने की अनिवार्यता का भाव निहित होता है।

2. आमंत्रण में भोजन इत्यादि के इंतजाम का भाव नही होता इसमें केवल औपचारिकता का भाव होता है।

निमंत्रण में भोजन इत्यादि के इंतजाम का भाव होता है और यह अनौपचारिक व भावनात्मक होता है।

3. आमंत्रण आमतौर पर मौखिक रूप में दिया जाता है जैसे किसी को कह देना कि "आप कल हो रही पूजा में आमंत्रित हैं"।

निमंत्रण को लिखित रूप में भेजा जाता है जो आने की अनिवार्यता को और सदृढ़ करता है। इसलिए आपको अपने रिश्तेदारों से निमंत्रण पत्र मिलता है न कि आमंत्रण पत्र।

यूटोपिया का अर्थ या मतलब | Utopia Meaning in Hindi

यूटोपिया एक ऐसे काल्पनिक समाज को कहा जाता है जहां पर सब कुछ परफेक्ट (उत्तम) हो। जहां किसी प्रकार की कोई समस्या ना हो, सब लोग साथ मिलकर हंसी-खुशी जीवन व्यतीत करें, सबको बराबर के अधिकार प्राप्त हों, सबकी आर्थिक स्थिति एक जैसी हो, सबको न्याय मिलता हो, सब एक दूसरे के समान समझें जाए, जहां राजा भी खुश हो और प्रजा भी खुश हो, उद्योगपति भी खुश हो और मजदूर भी खुश हो, जहां सेना भी खुश हो, जहां किसी प्रकार का कोई युद्ध ना होता हो और सब लोग संतुष्ट होकर एक अच्छा जीवन व्यतीत करें। ऐसे काल्पनिक समाज को यूटोपिया कहा जाता है।


हालांकि प्रैक्टिकल (वास्तविक) रूप से किसी समाज को यूटोपिया बनाना संभव नही है क्योंकि यह इंसानी प्रकृति के विपरीत है। लेकिन सामाजिक कल्याण का कार्य करने वाले सभी विचारक अपने समाज को यूटोपिया (अर्थात आदर्श समाज) बनाने के सपना लेकर ही जनकल्याण के कार्य करते हैं। यूटोपिया को हिंदी बोलचाल में "रामराज्य" कहा जाता है।

फानी का अर्थ या मतलब | Fani Meaning in Hindi

हाल ही में भारत के ओडिशा राज्य में तबाही मचाने वाले चक्रवृति तूफान का नामकरण बांग्लादेश द्वारा किया गया है और इस तूफान का नाम फानी रखा गया है। क्योंकि यह तूफान हिन्द महासागर के आसपास उठा है इसलिए इसका नाम रखने का अधिकार आठ देशों के पास है तथा इन आठ देशों को समय-समय पर हिन्द महासागर के आसपास उठने वाले तूफानों के नाम रखने का अधिकार दिया जाता है। अबकी बार उठे इस चक्रवृति तूफान का नाम बांग्लादेश ने रखा है।


फानी शब्द हिंदी भाषा के "फन" शब्द से मेल खाता है जिसका अर्थ होता है "सांप का फन" बांग्लादेश में सर्प के फन को फानी या फणि बोला जाता है तथा सर्प के फन के नाम पर ही तबाही मचाने वाले इस तूफान का नाम फानी रखा गया है। समाचार पत्रों में यह शब्द फणि तथा फोनी के नाम से भी प्रचारित किया जा रहा है।

डॉ. मनमोहन सिंह के तीन सुझाव

भारत के पूर्व प्रधानमंत्री व दिग्गज अर्थशास्त्री डॉ. मनमोहन सिंह ने हाल ही में बीबीसी से ईमेल के जरिए बातचीत की; जिसमें उन्होंने कोरोना के क...