जीरो बैलेंस एकाउंट | Zero Balance Account Meaning in Hindi

शब्द चर्चा में क्यों : हाल ही में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने सभी बचत खातों को जीरो बैलेंस फैसिलिटी से लैस कर दिया है जिसके बाद अब SBI के किसी भी बचत खाते में न्यूनतम राशि रखने की बाध्यता समाप्त हो चुकी है। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के इस फैसले से 44 करोड़ से भी अधिक खाता धारकों को सीधा लाभ पहुँचा है। इसी घटनाक्रम के चलते जीरो बैलेंस एकाउंट शब्द चर्चा में आया है।

जीरो बैलेंस एकाउंट का अर्थ : जब हम किसी बैंक में बचत खाता खुलवाते हैं तो हमें बैंकिंग सुविधाओं का लाभ लेने हेतु कुछ राशि अपने खाते में जमा रखनी अनिवार्य होती है। SBI बैंक की बात की जाए तो पुराने नियमों के अनुसार SBI के मेट्रो बचत खाते में 3000, शहरी बचत खाते में 2000 और ग्रामीण क्षेत्रों के बचत खाते में 1000 रुपए रखे जाने की अनिवार्यता थी। यदि कोई खाताधारक इस राशि को बनाए रखने में सक्षम नही होता था तो उसके खाते पर पेनल्टी लगती थी जिसके कारण उसकी जमा राशि से जुर्माने का तौर पर कुछ पैसे काट लिए जाते थे। लेकिन जब कोई बैंक एक ऐसे खाते की सुविधा देता है जिसमें बैंकिंग सुविधाएं लेने के लिए कोई राशि रखने की बाध्यता नही होती तो वह बैंक ऐसे खातों को जीरो बैलेंस एकाउंट नाम देता है क्योंकि आप इन खातों से पूरे पैसे निकालने के बाद भी बैंकिंग सुविधाओं का लाभ ले सकते हैं यदि आपके खाते की राशि 0.00 भी हो जाती है तो भी आपको किसी तरह का शुल्क या जुर्माना नही देना पड़ता। इस प्रकार के खातों को जीरो बैलेंस एकाउंट कहा जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्णसंकर का अर्थ | Varnasankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...