सर्वे भवन्तु सुखिनः का अर्थ | Sarve Bhavantu Sukhinah Meaning in Hindi

हिंदी 2 मीनिंग की अनुवाद श्रृंखला के अगले लेख में आपका स्वागत है इस लेख में हम एक प्रसिद्ध श्लोक का अर्थ जानेंगे। संस्कृत में लिखा यह श्लोक लोकप्रिय व प्रसिद्ध है। इस श्लोक को शांति पाठ व शांति मंत्र के रूप में जाना जाता है। गरूड़ पुराण सहित कई अन्य शास्त्रों से इस श्लोक के शब्द लिए गए हैं।
संस्कृत में लिखित इस श्लोक की पंक्तियां इस प्रकार हैं :
सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः ।
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद् दुःखभाग्भवेत् ॥
ॐ शांतिः शांतिः शांति:
यहाँ पर प्रयोग किए गए "सर्वे" शब्द का हिंदी में अर्थ होता है "सभी"
भवन्तु का अर्थ होता है : होना
सुखिनः का अर्थ है : सुखी
इस प्रकार सर्वे भवन्तु सुखिनः का अर्थ हुआ : "सभी सुखी होवें"
इसके बाद सन्तु का अर्थ होता है : रहें
निरामयाः का अर्थ होता है : निरोगी
इस प्रकार सर्वे सन्तु निरामयाः का अर्थ हुआ : "सभी निरोगी रहें"
इसके बाद भद्राणि का अर्थ होता है : कल्याण
पश्यन्त का अर्थ होता है : देखना
इस प्रकार सर्वे भद्राणि पश्यन्तु का अर्थ हुआ : "सभी कल्याण देखें"
इसके बाद मा का अर्थ होता है : नही
कश्चिद् का अर्थ होता है : कभी भी
दुःखभाग्भवेत् का अर्थ होता है : दुख का भागी होना
इस प्रकार मा कश्चिद् दुःखभाग्भवेत् का अर्थ हुआ : "कभी भी दुख के भागी न हों"
इस प्रकार
सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः ।
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद् दुःखभाग्भवेत् ॥
ॐ शांतिः शांतिः शांति:
श्लोक का पूर्ण अर्थ हुआ :
सभी सुखी होंवे; सभी निरोगी रहें...
सभी कल्याण देखें; किसी को भी दुख का भागी न होना पड़े...

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

सचिवालय का अर्थ | Sachivalaya Meaning in Hindi

सचिवालय (Secretariat) राज्य प्रशासन का एक भाग है जो चुनाव में जीते मंत्रियों की नीति निर्माण करने में सहायता करता है; सचिवालय में अलग-अलग वि...