सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

अमोनियम नाइट्रेट का अर्थ | Ammonium Nitrate Meaning in Hindi

04 अगस्त 2020 को लेबनान की राजधानी बेरूत में एक बड़ा विस्फोट हुआ। जिसमें 73 लोगों की मौत हुई तथा 4000 के करीब लोग घायल हो गए। इस हादसे के बाद लेबनान के प्रधानमंत्री की ओर से बयान आया कि यह विस्फोट बंदरगाह पर रखे 2700 टन अमोनियम नाइट्रेट में हुआ है। तो हम इस आर्टिकल में ये जानने की कोशिश करेंगे कि अमोनियम नाइट्रेट क्या होता है और यदि यह इतना खतरनाक है तो इसे एकत्रित करके क्यों रखा जाता है आइए इन सब प्रश्नों के उत्तर खोजने की कोशिश करते हैं।



दरअसल अमोनियम नाइट्रेट एक गंधहीन विस्फोटक केमिकल है जिसका प्रयोग कई कामों में होता है लेकिन मुख्य रूप से इसका इस्तेमाल केवल दो कामों में किया जाता है। पहला खेती में कृषि के लिए उर्वरकों के तौर पर तथा दूसरा खनन कार्यों में विस्फोटक के तौर पर।

अमोनियम नाइट्रेट का रासायनिक सूत्र है NH4NO3

रासायन की भाषा में समझा जाए तो अमोनियम नाइट्रेट एक अकार्बनिक यौगिक (जिनकी उत्पत्ति में जैविक क्रियाओं का योगदान न हो) है। अमोनियम नाइट्रेट साधारण ताप व दाब पर सफेद रंग के क्रिस्टलीय ठोस रूप में पाया जाता है। इसका प्रयोग कृषि में उच्च-नाइट्रोजन युक्त उर्वरक के रूप में किया जाता है।

इसके अतिरिक्त मुख्य रूप से अमोनियम नाइट्रेट का प्रयोग विस्फोटकों में ऑक्सीकारक के रूप में होता है।
 ऑक्सीकारक वो पदार्थ होते हैं जो अपनी आक्सीकरण की क्षमता के कारण दूसरे पदार्थो के इलेक्ट्रानो को खीच कर ग्रहण कर लेते हैं।

अमोनियम नाइट्रेट ANFO (अमोनियम नाइट्रेट फ्यूल ऑइल) नामक प्रसिद्ध विस्फोटक का प्रमुख घटक है। ANFO का प्रयोग आद्योगिक विस्फोटक के रूप में किया जाता है और इस विस्फोटक के निर्माण में 94% अमोनियम नाइट्रेट का इस्तेमाल होता है।

ANFO का प्रयोग कोयला खनन, उत्खनन, धातु खनन इत्यादि में व्यापक रूप से किया जाता है क्योंकि इसकी लागत कम है जो उद्योगों को आर्थिक लाभ देती है।

खनन के कार्यस्थल पर चट्टानों में छेद बनाकर उनमें ANFO को भर दिया जाता है तथा बाद में उन छेदों में विस्फोट कर खनन का कार्य पूरा किया जाता है।

उत्तरी अमेरिका में प्रयोग होने वाले कुल विस्फोटकों में 80% हिस्सेदारी ANFO की होती है।

उद्योगों में अमोनियम नाइट्रेट की आवश्यकता देखते हुए इसे एकत्रित किया जाता है लेकिन बहुत बार यह मानव निर्मित आपदाओं का कारण बन चुका है जिसका हालिया उदाहरण हमें लेबनान की राजधानी बेरूत में देखने को मिला।

अमोनियम नाइट्रेट के बड़े भंडार ऑक्सीकरण के चलते आगजनी का कारण बन सकते हैं इसका एक बड़ा उदाहरण हमने वर्ष 1947 में टेक्सास में देखा था। जहां पर आगजनी के चलते एकत्रित किए हुए 2300 टन अमोनियम नाइट्रेट में विस्फोट हो गया था जिसने आसपास के तेल भंडारों को अपनी चपेट में ले लिया तथा इस घातक आद्योगिक दुर्घटना में 581 लोग मारे गए थे।

इस हादसे ने उद्योगों को अमोनियम नाइट्रेट के भंडारण तथा देखरेख में और ज्यादा सतर्कता बरतने हेतु प्रेरित किया। इसके अलावा भी बहुत बार यह अकार्बनिक यौगिक बहुत से हादसों की वजह बन चुका है।

अमोनियम नाइट्रेट से जुड़ी घटनाओं को देखते हुए भारत में भी विस्फोटक अधिनियम 1984 के अंतर्गत आने वाले अमोनियम नाइट्रेट नियम 2012 का अनुसरण किया जाता है; जिसमें कृषि के लिए उपयोग होने वाले अमोनियम नाइट्रेट युक्त उर्वरकों में से अमोनियम नाइट्रेट को अलग किए जाने की प्रक्रिया को अवैध घोषित किया गया है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

आमी तोमाके भालोबाशी का अर्थ - Ami Tomake Bhalobashi Meaning in Hindi

* आमी तोमाके भालोबाशी बंगाली भाषा का शब्द है। * इसका हिंदी में अर्थ होता है "मैं तुमसे प्यार करता/ करती हूँ। * इस शब्द का प्रयोग हिंदी फिल्मों और गानों में बंगाली टच देने के लिए किया जाता है। * आमी तोमाके भालोबाशी में "तोमाके" का अर्थ होता है "तुमको" इसे "तोमे" के साथ भी बोला जा सकता है अर्थात "आमी तोमे भालोबाशी" का अर्थ भी "मैं तुमसे प्यार करता हूँ" ही होता है। * अपने से उम्र में बड़े व्यक्ति जैसे माता-पिता को बंगाली में यह शब्द कहते हुए "तोमाके" शब्द को "अपनके" बोला जाता है जैसे : आमी अपनके भालोबासी" * अंग्रेजी में इसका अर्थ आई लव यू होता है। * अगर बोलना हो कि "मैं तुमसे (बहुत) प्यार करता हूँ" तो कहा जाएगा "आमी तोमाके खूब भालोबाशी" * वहीं अगर बोलना हो " तुम जानती हो मैं तुमसे प्यार करता हूँ" तो कहा जाएगा "तुमी जानो; आमी तोमाके भालोबाशी"

करत करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान दोहे का अर्थ Karat Karat Abhyas Ke Jadmati Hot Sujan Doha Meaning in Hindi

करत करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान मध्यकालीन युग में कवि वृंद द्वारा रचित एक दोहा है यह पूर्ण दोहा इस प्रकार है "करत करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान; रसरी आवत जात ते सिल पर परत निसान" इस दोहे का अर्थ है कि निरंतर अभ्यास करने से कोई भी अकुशल व्यक्ति कुशल बन सकता है यानी कि कोई भी व्यक्ति अपने अंदर किसी भी प्रकार की कुशलता का निर्माण कर सकता है यदि वह लगातार परिश्रम करे। इसके लिए कवि ने कुए की उस रस्सी का उदाहरण दिया है जिस पर बाल्टी को बांध कर कुए से पानी निकाला जाता है। बार-बार पानी भरने के कारण वह रस्सी कुए के किनारे पर बने पत्थर पर घिसती है तथा बार-बार घिसने के कारण वह कोमल रस्सी उस पत्थर पर निशान डाल देती है क्योंकि पानी भरने की प्रक्रिया बार बार दोहराई जाती है इसलिए वह रस्सी पत्थर निशान डालने में सफल हो जाती है। यही इस दोहे का मूल है इसमें यही कहा गया है कि बार-बार किसी कार्य को करने से या कोई अभ्यास लगातार करने से अयोग्य से अयोग्य व मूर्ख से मूर्ख व्यक्ति भी कुशल हो जाता है। इसलिए व्यक्ति को कभी भी अभ्यास करना नहीं छोड़ना चाहिए। इस दोहे के लिए अंग्रेजी में एक वाक्य प्रय

जिहाल-ए-मिस्कीं मकुन बरंजिश का अर्थ | Zihale-E-Miskin Mukun Ba Ranjish Meaning in Hindi

"जिहाल-ए -मिस्कीन मकुन बरंजिश" पंक्ति हिंदी फिल्म गुलामी में गए गए गीत के चलते प्रचलित हुई है। यह गीत प्रसिद्ध कवि अमीर ख़ुसरो द्वारा रचित फ़ारसी व बृजभाषा के मिलन से बनी कविता से प्रेरित है। यह कविता मूल रूप में इस प्रकार है। ज़िहाल-ए मिस्कीं मकुन तगाफ़ुल, दुराये नैना बनाये बतियां... कि ताब-ए-हिजरां नदारम ऐ जान, न लेहो काहे लगाये छतियां... इस मूल कविता का अर्थ है : आँखे फेरके और बातें बनाके मेरी बेबसी को नजरअंदाज (तगाफ़ुल) मत कर... हिज्र (जुदाई) की ताब (तपन) से जान नदारम (निकल रही) है तुम मुझे अपने सीने से क्यों नही लगाते... इस कविता को गाने की शक्ल में कुछ यूँ लिखा गया है : जिहाल-ए -मिस्कीं मकुन बरंजिश , बेहाल-ए -हिजरा बेचारा दिल है... सुनाई देती है जिसकी धड़कन , तुम्हारा दिल या हमारा दिल है... इस गाने की पहली दो पंक्तियों का अर्थ है : मेरे दिल का थोड़ा ध्यान करो इससे रंजिश (नाराजगी) न रखो इस बेचारे ने अभी बिछड़ने का दुख सहा है...