द्विध्रुवी विकार का अर्थ | Bipolar Disorder Meaning in Hindi

हाल ही में फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत के तथाकथित आत्महत्या मामले में एक नया मोड़ आया है।

अभिनेता की थेरेपिस्ट रही सुसान वॉकर के अनुसार सुशांत आत्महत्या से पहले बाइपोलर डिसऑर्डर से जूझ रहे थे। लेकिन ये बाइपोलर डिसऑर्डर होता क्या है आइए जानते हैं।

बाइपोलर डिसऑर्डर को हिंदी में द्वीध्रुवी विकार कहा जाता है।

बाइपोलर डिसऑर्डर एक गंभीर प्रकार का मानसिक रोग है जो मनोदशा में विकार उतपन्न करता है। इस रोग से ग्रसित रोगी की मनोदशा बारी-बारी से दो विपरीत अवस्थाओं में जाती रहती है।

एक मनोदशा को सनक (Mania) और दूसरी मनोदशा को अवसाद (Depression) कहते हैं। हालांकि इन दोनों अवस्थाओं के बीच व्यक्ति कुछ समय के लिए सामान्य भी हो सकता है।

पहले देखते हैं पहली अवस्था यानी कि सनक/ Mania को : सनक की मनोदशा में रोगी अति-आशावादी हो जाता है और अपने बारे मे बढ़ी-चढ़ी धारणाएं रखने लगता है (जैसे मैं बहुत धनी, क्रिएटिव या शक्तिशाली हूँ इत्यादि) तथा बिना सोचे समझे कोई भी बड़ा निर्णय ले सकता है।

इस अवस्था में व्यक्ति अति-क्रियाशील हो जाता है तथा आवश्यकता से अधिक बात करने लगता है तथा उसके विचार तेज गति से बदलने लगते हैं। रोगी सोना नहीं चाहता या सोने की आवश्यकता महसूस नही करता। हालांकि अलग-अलग व्यक्तियों में दिखने वाले लक्षणों में थोड़ा बहुत अंतर हो सकता है।

अब देखते हैं दूसरी अवस्था यानी कि (अवसाद/ Depression) को : अवसाद की मनोदशा में रोगी उदास रहता है उसको थकान महसूस होती रहती है। वो बिना किसी बात के ही सभी बुरी परिस्थितियों के लिए अपने आप को दोषी मानने लगता है तथा जीवन को लेकर आशाहीन हो जाता है।

उसका रोने का मन करता है तथा वो लोगों से नजरें मिलने में संकोच महसूस करने लगता है। इस अवस्था में आत्महत्या के ख्याल आना भी शामिल है तथा स्थिति ज्यादा गंभीर होने पर व्यक्ति स्वयं को हानि भी पहुँचा सकता है।

बाइपोलर डिसऑर्डर बीमारी वैश्विक आबादी के लगभग 0.8% भाग को प्रभावित करती है। इसे मैनिक-डिप्रेसिव बीमारी के रूप में भी जाना जाता है।

इस बीमारी से ग्रसित होने का कारण आसपास के माहौल, अनुवांशिकी तथा मस्तिष्क से सबंधित अन्य समस्याओं को माना जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जेईई मेन का अर्थ | JEE Main Meaning in Hindi

JEE MAIN एक इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा है; भारत के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन लेने के लिए राजकीय स्तर पर कई प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की ज...