जेईई मेन का अर्थ | JEE Main Meaning in Hindi

JEE MAIN एक इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा है; भारत के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन लेने के लिए राजकीय स्तर पर कई प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं लेकिन राष्ट्रीय स्तर आयोजित होने वाली सबसे विशेष प्रवेश परीक्षा JEE MAIN है।

इसमें प्राप्त रैंक के आधार पर NITs, IIITs और CFTIs सहित देश के 1000 से भी अधिक इंजिनीरिंग कॉलेज में चल रहे अंडर ग्रेजुएट कोर्सेज BE, B.Tech, B.Plan तथा B.Arch में एडमिशन मिलता है।

यह परीक्षा पहले CBSE द्वारा आयोजित की जाती थी; लेकिन अब इसे NTA (नेशनल टेस्टिंग एजेंसी) द्वारा आयोजित किया जाता है।

इसका आयोजन वर्ष में दो बार जनवरी और अप्रैल में किया जाता है।

साइंस स्ट्रीम से 12 वीं पास करने वाले विद्यार्थी इस परीक्षा में बैठ सकते हैं; NITs, IIITs और CFTIs में एडमिशन लेने के लिए 12 वीं में सामान्य वर्ग के विद्यार्थियों के लिए 75% अंक प्राप्त करना अनिवार्य है।

एक विद्यार्थी इस परीक्षा में 3 वर्ष तक बैठ सकता है; इस समय में वो इस परीक्षा को 6 बार अटेम्प्ट करता है।

JEE Main में दो पेपर्स होते हैं पेपर-I BE और B.Tech में एडमिशन लेने वालों के लिए होता है जबकि पेपर-II B.Plan तथा B.Arch में एडमिशन लेने वालों के लिए होता है

JEE Main की परीक्षा ऑनलाइन स्तर पर आयोजित करवाई जाती है जो कि 3 घण्टे की होती है।

JEE Main में टॉप 2 लाख 45 हजार छात्रों को JEE Advance देने के लिए योग्य माना जाता है।

और JEE Advance की परीक्षा के आधार पर IITs (जिनकी संख्या पूरे भारत में केवल 23 है) में एडमिशन दिया जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

जेईई मेन का अर्थ | JEE Main Meaning in Hindi

JEE MAIN एक इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा है; भारत के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन लेने के लिए राजकीय स्तर पर कई प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की ज...