ट्रिस्ट विद डेस्टिनी का अर्थ | Tryst with Destiny Meaning in Hindi

ट्रिस्ट विद डेस्टिनी एक भाषण का शीर्षक है।

यह भाषण पंडित जवाहरलाल नेहरू द्वारा 14 अगस्त 1947 की आधी रात दिया गया था।

यह स्वतंत्र भारत का प्रथम भाषण था।

ट्रिस्ट विद डेस्टिनी का हिंदी में अर्थ होता है " नियति से मिलने का वादा या नियति से साक्षात्कार।

यह भाषा बीसवीं शताब्दी के महानतम भाषणों में से एक है।

ट्रिस्ट विद डेस्टिनी भाषण देने वाले पंडित जवाहरलाल नेहरू बाद में भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने थे।

इस भाषण पर अनेक विद्वानों के अपने-अपने मत हैं।

भारत के इतिहास में यह भाषण स्वर्णिम अक्षरों में दर्ज है।

भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस व भारत सरकार की वेबसाइट्स पर इस भाषण की कॉपी उपलब्ध है।

इस भाषण की शुरुआती पंक्तियां इस प्रकार हैं :

"कई सालों पहले, हमने नियति के साथ एक वादा किया था, और अब समय आ गया है कि हम अपना वादा निभाएं।

पूरी तरह न सही पर बहुत हद तक तो निभाएं; आधी रात के समय जब दुनिया सो रही होगी भारत जीवन और स्वतंत्रता के लिए जाग जाएगा"

पाञ्चजन्य का अर्थ | Panchjanya Meaning in Hindi

पाञ्चजन्य शब्द; पाञ्चजन्य नामक राक्षक की हड्डी से बने श्री कृष्ण के शंख को कहा जाता है; महाभारत के अनुसार कुरुक्षेत्र के युद्ध में श्री कृष्ण द्वारा इसी शंख का प्रयोग किया गया था।

मौजूदा समय में RSS (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) द्वारा पाञ्चजन्य नाम से एक साप्ताहिक पत्रिका प्रकाशित की जाती है जो आरएसएस की विचारधारा का प्रतिनिधित्व करती है। इस पत्रिका की शुरुआत वर्ष 1948 में आरएसएस प्रचारक दीनदयाल उपाध्याय द्वारा की गई थी।

इसके अलावा पाञ्चजन्य शब्द पाँच सबसे प्राचीन क्षत्रिय जातियों के लिए भी किया जाता है।

जेईई मेन का अर्थ | JEE Main Meaning in Hindi

JEE MAIN एक इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा है; भारत के इंजीनियरिंग कॉलेजों में एडमिशन लेने के लिए राजकीय स्तर पर कई प्रवेश परीक्षाएं आयोजित की ज...