रांझा सिमर दोराहा लिरिक्स का मतलब Ranjha Simar Doraha Punjabi Song Lyrics Meaning in Hindi

गीत का शीर्षक: रांझा

गायक: सिमर दोराहा

लिरिक्स: सिमर दोराहा

संगीत: मिक्स सिंह

संगीत कंपनी: मिक्ससिंह


--------------------------------------------

लिरिक्स का हिंदी में मतलब

---------------------------------------------


मेरा रांझा पल्ले दे विच पादे

माए मैं कुझ होर ना मंगा

माए मैं कुझ होर ना मंगा

माए मैं कुझ होर ना मंगा


मेरा आशिक मेरी झोली में डाल दे

माँ मैं कुछ और नही माँग रही

माँ मैं कुछ और नही माँग रही

माँ मैं कुछ और नही माँग रही


कन्नी मुंद्रा वाल वधाए

छड दे ओहदा साथ हीरे

दिल मिलेया नु कौण पुछे

जिथे ना मिलदी जात हीरे

दिल मिलेया नु कौण पुछे

जिथे ना मिलदी जात हीरे


कान में बाली बाल बढाए

छोड़ दे उसका साथ लड़की

वहां दिल मिले को कौन पूछता है

जहाँ पर जाति नही मिलती

वहां दिल मिले को कौन पूछता है

जहाँ पर जाति नही मिलती



बाप तेरे ने नहीं मन्नणा

तू दिल अपने नु रोकी नी

जे तैनू रांझे नाल तोरता

की केणगे लोकी नी

जे तैनू रांझे नाल तोरता

की केणगे लोकी नी

जे तैनू रांझे नाल तोरता

की केणगे लोकी नी


तेरे बाप ने नही मानना

तू दिल अपने को रोक लेना

अगर तुझे तेरे आशिक के साथ भेज दिया

तो लोग क्या कहेंगे

अगर तुझे तेरे आशिक के साथ भेज दिया

तो लोग क्या कहेंगे

अगर तुझे तेरे आशिक के साथ भेज दिया

तो लोग क्या कहेंगे


माये मैं कुझ होर ना मंगा
माये मैं कुझ होर ना मंगा

माँ मैं कुछ और नही माँग रही

माँ मैं कुछ और नही माँग रही


तेरे रांझे बारे पता कित्ता

ओह्वी ना बंदा सही हीरे

कर्जा चढ़ेयां ओहदे ते

आमदन दा साधन नहीं हीरे

कर्जा चढ़ेयां ओहदे ते

आमदन दा साधन नहीं हीरे


तेरे आशिक के बारे में पता किया है
वो इंसान ठीक नही है
उसके सिर पर कर्जा चढा हुआ है
आमदनी का कोई साधन नही है
उसके सिर पर कर्जा चढा हुआ है
आमदनी का कोई साधन नही है


छड दे जेडी जिद फड़ी ऐ
फिर होवेंगी औखी नहीं


जो जिद्द तूने पकड़ रखी है उसे छोड़ दे

वरना बाद में तू परेशान होगी


जे तैनू रांझे नाल तोरता
की केणगे लोकी नी
जे तैनू रांझे नाल तोरता
की केणगे लोकी नी
जे तैनू रांझे नाल तोरता
की केणगे लोकी नी


अगर तुझे तेरे आशिक के साथ भेज दिया

तो लोग क्या कहेंगे

अगर तुझे तेरे आशिक के साथ भेज दिया

तो लोग क्या कहेंगे

अगर तुझे तेरे आशिक के साथ भेज दिया

तो लोग क्या कहेंगे


माये मैं कुझ होर ना मंगा
माये मैं कुझ होर ना मंगा


माँ मैं कुछ और नही माँग रही

माँ मैं कुछ और नही माँग रही


सारे ही उस्ताद बणे
ना किसे साध दे चेले ने
अज्ज दे रांझे पढ़ लिख के वी
देखे रहंदे वेल्ले ने


सभी खुद ही उस्ताद बने हुए है

किसी साधु के चेले नही हैं

आज के आशिक पढ़ लिख कर भी

नकारा रहते देखें हैं


फिर नशेयां दे हड्ड विच हड्ड के
अंख रखदे लाल कई
कोई भंगी ते कोई शराबी
खांदे ने पए माल कई


फिर नशे के जाल में फस कर

आंखों को नशे में लाल रखते हैं

कोई भांग तो कोई शराब पीता है

तो कई माल खाते हैं


तैनू छड के कई हीरा
ओहने और वी पिछे लाईयाँ ने
वंजली वुंजली किथे सिमरन
गीता नाल फसाईयाँ ने

गीत तेरे ते लिख लिख तैनू
रोज़ सुनौन्दा होना ऐ
ऐद्दा ही ओह कर कर
कईयाँ दे नाल सौंदा होणा ऐ
ऐद्दा ही ओह कर कर
कईयाँ दे नाल सौंदा होणा ऐ


तुझे छोड़ कर भी बहुत सी प्रेमिकाएं

उसने अपने पीछे लगा रखी हैं

बांसुरी बुंसुरी बजा कर नही सिमरन

गीत गा कर उनको फसाया है

तुझ पर गीत लिख लिख

कर तुझे सुनता होगा वो

ऐसे ही कर कर के

बहुतों के साथ सोता होगा वो

ऐसे ही कर कर के

बहुतों के साथ सोता होगा वो


बस ऐद्दा दियाँ गल्लां दस्दा

दसदा मैं तां संगा


बस एसी बातें बताते बताते

मुझे शर्म आ जाती है


माये मैं कुझ होर ना मंगा

माये मैं कुझ होर ना मंगा
माये मैं कुझ होर ना मंग


माँ मैं कुछ और नही माँग रही

माँ मैं कुछ और नही माँग रही

माँ मैं कुछ और नही माँग रही

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Monsoon Satra Meaning in Hindi

मॉनसून सत्र में भारत की संसद में जुलाई और अगस्त के महीने में सांसदों की होने वाली बैठक को कहा जाता है भारत की संसद में 1 वर्ष में कुल 3 सत्र...