Pratispradhi Sanghvad meaning in Hindi | प्रतिस्पर्धी संघवाद का अर्थ

प्रतिस्पर्धी संघवाद एक ऐसी राजनैतिक शासन व्यवस्था को कहा जाता है जिसमें राज्य सरकारें राष्ट्रीय शासन नीति अपनाने की बजाए अपनी भौतिक और सांस्कृतिक विशिष्टता के आधार पर नीतियां बनाती है।

इन नीतियों के आधार पर सभी राज्य आपस में स्वस्थ प्रतिस्पर्धा करते हैं।

इस शासन व्यवस्था के जरिए राज्य अधिक से अधिक विकास करने हेतु शासन व्यवस्था की खामियों को दूर करने का निरंतर प्रयास करते हैं।

प्रतिस्पर्धी संघवाद को अंग्रेजी में Competitive Federalism (कंपीटिटिव फेडरलिज्म) कहा जाता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्ण शंकर का अर्थ | Varna Shankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...