Varn meaning in Hindi | वर्ण का अर्थ

वर्ण हिंदी भाषा की वह छोटी से छोटी ध्वनि होती है जिसके ओर अधिक टुकड़े नही हो सकते।

इन वर्णों के व्यवस्थित समूह को वर्णमाला कहा जाता है।

हिंदी वर्णमाला में वर्णों की सँख्या 44 होती है।

वर्ण के दो भेद होते हैं स्वर और व्यंजन

जिन वर्णों का उच्चारण स्वतंत्र रूप से या अन्य किसी वर्ण की सहायता के बिना किया जाता है ऐसे वर्णों को स्वर कहा जाता है ऐसे वर्णों की सँख्या 11 है जैसे: अ, आ, ई...... इत्यादि।

जिन वर्णों का उच्चारण स्वतंत्र रूप से ना किया जा सके तथा जिनके उच्चारण में स्वरों की सहायता लेनी पड़े ऐसे वर्णों को व्यंजन कहा जाता है ऐसे वर्णों की संख्या 33 है जैसे : के, ख, ग..... इत्यादि।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

वर्ण शंकर का अर्थ | Varna Shankar meaning in Hindi

वर्ण व्यवस्था के अंतर्गत चार वर्ण बताए गए हैं ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शूद्र। जब दो अलग अलग वर्ण के महिला व पुरुष आपस में विवाह करते हैं...