सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

अक्तूबर 19, 2022 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

Article 17 meaning in Hindi | अनुच्छेद 17 का मतलब | Article 17 in Hindi | Anuched 17 | Article 17 of Indian Constitution

भारतीय संविधान भाग 3 | अनुच्छेद 17 दोस्तों, भारत के संविधान में हमें छः (मूल रूप से सात, एक अधिकार को कानूनी अधिकार बना दिया गया है) मौलिक अधिकार दिए गए हैं जो कि संविधान के भाग तीन में अनुच्छेद 12 से 35 तक मौजूद हैं। इन्हीं में से एक अनुच्छेद है "अनुच्छेद 17" इस लेख में इसी Article 17 in Hindi के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त करेंगे। इस लेख को पढ़ने के बाद आप समझ पाएंगे कि अनुच्छेद 17 क्या है, यह किससे संबंधित है, और इससे जुड़े वह सभी तथ्य जो परीक्षाओं की दृष्टि से और एक नागरिक होने के नाते आपको पता होना चाहिए। अनुच्छेद 17 क्या है?   अनुच्छेद 17 संविधान के भाग तीन के अंतर्गत मौलिक अधिकारों से जुड़ा हुआ एक अनुच्छेद है। इसे संविधान में प्रकार लिखा गया है: "अस्पृश्यता का अंत किया जाता है और किसी भी रूप में इसका अभ्यास वर्जित है। अस्पृश्यता से उत्पन्न होने वाली किसी भी अक्षमता को लागू करना कानून के अनुसार दंडनीय अपराध होगा।" अब यदि हम अनुच्छेद 17 की व्याख्या करें तो इसमें स्पष्ट लिखा गया है कि अस्पृश्यता यानी कि छुआछूत एक दंडनीय अपराध है। यानी संवैधानिक रूप से छुआछूत